हाई सिक्योरिटी जोन में बहुमंजिला बिल्डिंग बनाने वाले एक्सपिरियॉन डेवलपर्स को लग सकता है झटका!

हाईकोर्ट की बिल्डिंग कमेटी से कंसल्ट के लिए प्रमुख सचिव आवास ने भेजा अपने निर्णय का प्रारूप

  • हाईकोर्ट के चारों ओर हाई सिक्योरिटी जोन में हो सकता है बदलाव, रोका जा सकता है निर्माणाधीन बिल्डिंग का काम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमती नगर स्थित हाईकोर्ट बिल्डिंग के पास हाई सिक्योरिटी जोन में बहुमंजिला बिल्डिंग का निर्माण करने वाले एक्सपिरियॉन डेवलपर्स को झटका लग सकता है। शासन के सूत्रों के अनुसार हाईकोर्ट के निर्देश पर प्रमुख सचिव आवास ने अपने निर्णय का प्रारूप हाईकोर्ट की बिल्डिंग कमेटी से कंसल्ट करने के लिए भेजा है। सूत्रों का यह भी कहना है कि उक्त प्रारूप के आधार पर दो फैसले लिए गए हैं जिसमें कहा गया है कि एक्सपिरियॉन डेवलपर्स द्वारा हाई सिक्योरिटी जोन में बनाए जा रहे दो ब्लाक का काम अस्थाई तौर पर रोक दिया जाए। वहीं हाईकोर्ट के चारों ओर हाई सिक्योरिटी जोन को रिव्यू किया जाए।
दरअसल, पिछले साल याचिकाकर्ता विनोद कुमार की ओर से हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी। याचिका में कहा गया था कि गोमतीनगर स्थित हाईकोर्ट बिल्डिंग के गेट नंबर सात की तरफ बन रही एक्सपिरियॉन डेवलपर्स की बिल्डिंग हाईकोर्ट की सुरक्षा के लिए खतरा हैं। इस बिल्डिंग का 15 मीटर हिस्सा हाई सिक्योरिटी जोन में आ रहा है। यही नहीं डेवलपर्स ने एलडीए के नियमों को ताक पर रख कर दो प्लॉटों को जोड़ कर निर्माण शुरू करा दिया। याचिका में बिल्डिंग के ले-आउट को खारिज करने की मांग भी की गई थी। इस मामले की सुनवाई के बाद जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस मनीष माथुर की बेंच ने प्रमुख सचिव आवास को छह सप्ताह में हाईकोर्ट से कंसल्ट करके निर्णय लेने का आदेश दिया था। सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता वीके शाही की दलील को आधार माना गया।

आपत्ति के संबंध में शासन से शिकायत

कोर्ट में पेश की गई दलील के अनुसार यदि प्राधिकरण द्वारा पास नक्शे पर कोई आपत्ति है तो इसकी शिकायत शासन से की जा सकती है। उक्त के आधार पर कोर्ट की ओर से निर्देश दिया गया कि याचिकाकर्ता एक प्रत्यावेदन प्रमुख सचिव आवास के समक्ष प्रस्तुत करें और प्रमुख सचिव आवास इस पर छह सप्ताह में निर्णय लें। लेकिन प्रमुख सचिव आवास की ओर से कोई फैसला नहीं लिया गया। इसलिए याची विनोद कुमार की ओर से कंटेम्प्ट फाइल कर दिया गया। जिसके बाद शासन के अफसरों में हडक़ंप मच गया। इसी क्रम में प्रमुख सचिव ने अपने निर्णय का एक प्रारूप हाईकोर्ट की बिल्डिंग कमेटी से कंसल्ट करने के लिए भेज दिया है।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर आग का गोला बनी एसी बस

  • बस में सवार 110 यात्रियों ने बड़ी मुश्किल से बचाई अपनी जान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर 110 यात्रियों से भरी एक एसी बस आग का गोला बन गई। ड्राइवर ने नगला खंगर के पास तत्काल बस रोक दी। इसके बाद यात्रियों ने बस से कूदकर जान बचाई। लेकिन बस में सवार कई यात्री अपना सामान नहीं उतार सके। इस घटना की सूचना मिलने पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने किसी तरह आग को बुझाया। बाद में बस के यात्रियों को रोडवेज से गंतव्य को रवाना किया गया।
जानकारी के मुताबिक प्राइवेट एसी बस दिल्ली से गोंडा जा रही थी। इस बस में बच्चों और महिलाओं समेत कुल 110 सवारियां बैठी थीं। इसी बीच बस के इंजन में आग लग गई। इतना ही नहीं बस रास्ते में भी कई जगह खराब हुई थी।

कश्मीर के पुंछ में आईईडी ब्लास्ट, एक जवान शहीद

  • सात जवान घायल, सर्च ऑपरेशन जारी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में एलओसी के पास आईईडी ब्लास्ट में एक जवान शहीद हो गया। जबकि 7 जवान बुरी तरह घायल हो गए हैं। इस आइर्ईडी धमाके को पुंछ सेक्टर के मेंढर में अंजाम दिया गया। धमाके में घायल हुए जवानों को एयर लिफ्ट कर मिलेट्री अस्पताल लाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।
बता दें , इस ब्लास्ट से पूर्व कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस सूत्रों ने कहा कि मारे गए दोनों आतंकवादी हिजबुल मुजाहिदीन संगठन से जुड़े थे। उनकी पहचान कराने की कोशिश की जा रही है। आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर सुरक्षा बलों द्वारा तलाशी अभियान शुरू करने के बाद गोपालपोरा गांव में आज सुबह मुठभेड़ शुरू हो गई। यहां अभी भी तलाशी अभियान जारी है। एहतियात के तौर पर प्रशासन ने जिले में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी है।

पुलिस ने छह घंटे में अगवा बच्चे को छुड़ाया, मुठभेड़ में अपहर्ता ढेर

  • एडीजी प्रयागराज ने ऑपरेशन में सफल हुई टीम को दी शाबाशी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रयागराज से अगवा ठेकेदार के 6 वर्षीय बालक को पुलिस ने छह घंटे बाद ही भदोही से सकुशल बरामद कर लिया। प्रयागराज से भदोही तक पुलिस और अपहर्ता के बीच चली लुका-छिपी के बाद हुई लाइव मुठभेड़ में अपहर्ता संजय यादव गोली लगने से मारा गया। पुलिस के अनुसार अपहर्ता ठेकेदार के यहां पहले ड्राइवर था। पकड़े जाने के डर से उसने खुद को गोली मार ली।
प्रयागराज के अल्लापुर निवासी ठेकेदार का 6 वर्षीय बेटा सिविल लाइंस में बीएचएस के जिम्नास्टिक हॉल में शाम पांच से सात बजे तक प्रशिक्षण लेता है। वह मंगलवार को भी बीएचएस गया था। इसी बीच शाम करीब सवा छह बजे ठेकेदार का पूर्व ड्राइवर संजय यादव बीएचएस पहुंचा। उसने जिम्नास्टिक कोच अभिलाष से कहा कि आज बच्चे का जन्मदिन है। घर में पार्टी है। उसके पिता ने बुलाया है। कोच ने बच्चे को जाने दिया। इसके कुछ ही देर बाद चालक संजय ने ठेकेदार को कॉल करके बताया कि बच्चे को अगवा कर लिया है। बच्चा चाहिए तो तीन करोड़ रुपये का इंतजाम कर लो। इसके बाद बच्चे से भी बात कराई। बच्चे के अगवा होने से परिवार में कोहराम मच गया। उसके पिता ने पुलिस अफसरों से मदद की गुहार लगाई। जिसे गंभीरता से लेकर एडीजी प्रयागराज ने क्राइम ब्रांच समेत कई टीमों को ऑपरेशन पर लगा दिया। आखिरकार बच्चा सकुशल बरामद कर लिया गया।

मेरठ में 50 हजार का ईनामी ढेर

लखनऊ। पश्चिमी यूपी के मेरठ और मुजफ्फर नगर क्षेत्र में आतंक का पर्याय माना जाने वाला 50 हजार का ईनामी बदमाश आशु लंबू उर्फ आस मोहम्मद पुलिस मुठभेड़ में मार दिया गया। एडीजी मेरठ के मुताबिक यह बदमाश सरधना क्षेत्र का रहने वाला था। पुलिस को लंबे समय से इसकी तलाश थी। पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ शहर कोतवाली क्षेत्र के पिन्ना बाईपास के समीप हुई। मुठभेड़ में एक बदमाश को गोली लगी और वह घायल हो गया। वहीं दूसरा मौके का फायदा उठाकर भाग निकला। घायल बदमाश को पुलिस अस्पताल ले गई जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बदमाश आशु पर लूट और डकैती जैसे कई संगीन मुकदमे दर्ज थे।े

 

Loading...
Pin It