भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण घटा रोजगार: प्रियंका

  • कहा, उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ा पलायन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने देश में बढ़ती बेरोजगारी के लिए भाजपा सरकार की गलत नीतियों को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि यूपी में बेरोजगारी चरम पर है। यहां के लोग रोजगार की तलाश में पलायन करने को मजबूर हैं। इसलिए चुनाव में पूर्वांचल से एक नई क्रांति का संचार होगा और पूरे देश में बदलाव होगा।
प्रियंका ने कहा कि भाजपा सरकार ने पांच साल तक देश भर में गरीबों और किसानों पर सितम ढाया। रोजगार घटाया और पलायन बढ़ाया। जबकि पहले यूपीए सरकार में जनता को मनरेगा में पर्याप्त काम और मजदूरी भी आसानी से मिल जाती थी। लेकिन भाजपा ने मनरेगा मजदूरों को ही काम से वंचित कर दिया। अब वही सब काम ठेकेदारों को सौंप कर जेसीबी से कराया जा रहा है। हम वादा करते हैं कि कांग्रेस की सरकार बनते ही मनरेगा के तहत भरपूर काम मिलेगा। इस काम का भुगतान भी तीन दिनों के भीतर होगा। किसान, नौजवान व महिला हितों की विरोधी सरकार को कांग्रेस ही सबक सिखाएगी। वहीं भाजपा और सपा गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा को सत्ता से बेदखल करनेे का काम सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है। जो लोग गठबंधन की मजबूती के बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं, चुनाव बाद उनके गठबंधन का कहीं पता नहीं चलेगा।

सबसे बुरी हार का स्वाद चखेगा विपक्ष: दिनेश शर्मा

  • कहा, चुनाव बाद 300 का आंकड़ा पार करेगी भाजपा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा है कि सपा बसपा और कांग्रेस अपने राजनैतिक इतिहास की सबसे बुरी हार का स्वाद चखने जा रहे हैं। भाजपा अकेले 300 सीटों का आंकडा पार करेगी। भाजपा उत्तर प्रदेश में 2019 के लोकसभा चुनाव में 2014 से भी अच्छा प्रदर्शन करने जा रही है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव का सांतवां चरण देश के भाग्य के निर्धारण का अन्तिम चरण होगा। पिछले छह चरण में पार्टी को जनता का अभूतपूर्व समर्थन मिला है। सातवें चरण की सभी 13 सीटो पर भाजपा ही विजय पताका लहराएगी।
दिनेश शर्मा ने कहा कि केन्द्र में मोदी जी के नेतृत्व में मजबूत सरकार बनेगी जो देश के मान सम्मान को बढाने का काम करेगी। जो लोग मोदी को सत्ता में आने से रोकने के लिए एकजुट हुए हैं, उनके मंसूबों पर पानी फिर जाएगा। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में लोकतांत्रिक मूल्यों का उपहास उड़ाया गया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रोड-शो में जिस प्रकार से सुनियोजित हिंसा व अराजकता पैदा की गई वैसा आज तक कभी नहीं हुआ है। हाल इतने बदतर हो गए कि राष्ट्रीय अध्यक्ष को सुरक्षा बलों के घेरे में जाना पड़ा। ऐसे में चुनाव आयोग को और अधिक कड़े कदम उठाने चाहिए। उन्होंने बंगाल में केन्द्रीय सुरक्षा बलों की निगरानी में चुनाव कराने की मांग की है। ताकि चुनाव में हिंसा न हो सके।

 

Loading...
Pin It