उपभोक्ता को पसंद की मशीन 45 दिनों के अंदर दे कंपनी : राजर्षि

  • उपभोक्ता फोरम के जज राजर्षि शुक्ला ने सुनाया फैसला
  • एक वर्ष में छह बार बिगड़ी अल्ट्रासाउंड मशीन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एक साल में यदि नई मशीन की छह बार मरम्मत करनी पड़े तो यह कम्पनी की लापरवाही है। इससे उपभोक्ता का मानसिक, शारीरिक और आर्थिक नुकसान होता है। मामले की सुनवाई करने के बाद फोरम ने कंपनी को आदेश दिया कि उपभोक्ता को उसकी पसंद की नई मशीन दे। साथ ही वादी को पांच हजार रुपये वाद व्यय और 10000 रूपये आर्थिक नुकसान भी अदा करे। यदि कम्पनी ऐसा नहीं करती है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह फैसला उपभोक्ता फोरम के जज राजर्षि शुक्ला ने दिया।
राजाजीपुरम निवासी कुसुम यादव ने 22 नवम्बर 2006 को लॉर्सन एंड टर्बो लिमिटेड कंपनी से डायग्नोस्टिक सेंटर के लिए 10 लाख पच्चीस हजार की अल्ट्रासाउंड मशीन खरीदी थी लेकिन मशीन लगातार खराब होती गई। कुसुम ने जब कम्पनी के अधिकारियों से बात की तो अधिकारी पहले गोल-मोल जवाब देते रहे। इस पर कुसुम ने उपभोक्ता फोरम में वाद दाखिल किया। जहां फोरम के जज राजर्षि शुक्ला और उनकी टीम ने इस मामले को गंभीरता से लिया और आदेश देते हुए कहा कि यदि एक वर्ष में नई मशीन की छह बार मरम्मत करानी पड़े तो यह नुकसान है। उन्होंने अपने आदेश में कहा कि कम्पनी पीडि़त को उसकी पसंद की नई मशीन 45 दिनों के अंदर देगी। यदि कीमत कम होगी तो शेष कीमत कंपनी को वापस करना पड़ेगी।

जलसंकट से जूझ रही पांच हजार की आबादी

लखनऊ।(4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) खरिका द्वितीय वार्ड के स्वरूपनगर मोहल्ले में जलापूर्ति ठप होने से पांच हजार की आबादी को पेयजल की समस्या से जूझना पड़ रहा है। पिछले दो दिनों से क्षेत्र में सप्लाई का पानी 4 से 5 मिनट के लिए ही मिल रहा है जिसके चलते लोगों को दूर-दराज के क्षेत्र से पानी लाना पड़ रहा है। स्वरूपनगर मोहल्ले के राजकिशोर ने बताया कि पानी नहीं मिलने से लगभग पांच हजार लोगों के आगे समस्या खड़ी हो गई है। हर साल गर्मियों में पेयजल संकट हो जाता है लेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं देता। स्थानीय लोगों का आरोप है कि पानी न आने की शिकायत जलकल विभाग दर्ज कराई गई लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ। वहीं, पार्षद मुन्ना लाल ने बताया कि बिजली न आने के कारण टंकी में पानी नहीं भर पाया जिसके चलते घरों में पानी नहीं पहुंचा।

Loading...
Pin It