आतंकवाद के खात्मे की बातें करने वाले एक जवान से डर गये: अखिलेश यादव

  • वाराणसी में तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द किए जाने को लेकर कसा तंज

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ जमकर हमला बोला है। उन्होंने सलेमपुर लोकसभा के बेल्थरारोड में आयोजित सपा-बसपा और रालोद की संयुक्त जनसभा में कहा कि जो लोग आतंकवाद खत्म करने की बात करते हैं, वे एक जवान से डर गए। उसका नामांकन रद्द कर दिया गया। इसलिए जनता को समझना होगा कि जो जवान से डर गए, वे आतंकवाद को कैसे खत्म करेंगे।
अखिलेश यादव ने कहा कि मोदी गरीब किसानों के नहीं, देश की उस एक प्रतिशत आबादी के प्रधानमंत्री हैं, जिसके फायदे और नुकसान को ध्यान में रखकर देश की सभी योजनाएं बनाई जाती हैं। उन्होंने कहा कि गरीबों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस चूल्हा और सिलेंडर के साथ कनेक्शन देने के दावे किए गए थे लेकिन हकीकत में किसी ने गैस चूल्हा लेने के बाद दोबारा सिलेंडर नहीं लिया। जबकि समाजवादी पार्टी की सरकार ने यूपी में गरीबों को पेंशन देकर उनकी गरीबी और भुखमरी को दूर करने का प्रयास किया था। लेकिन अफसोस समाजवादी सरकार की उस महत्वाकांक्षी योजना को भाजपा सरकार ने बंद कर दिया।

पूंजीपतियों की चौकीदारी में लगी भाजपा सरकार: मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी हार अब स्पष्ट दिख रही है। इसलिए वे हताशा में अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं। हकीकत में ये लोग केवल पूंजीपतियों की चौकीदारी में लगे हुए हैं। गरीब और किसान बुरी तरह परेशान हैं। आवारा पशुओं के कारण किसानों को बर्बादी झेलनी पड़ रही है। इस सरकार में सभी संस्थाओं को खत्म करने का काम हो रहा है। संविधान से आम आदमी को जो सम्मान और अधिकार मिले हैं, उन्हें भी छीनने की साजिश हो रही है। यह चुनाव हक और सम्मान पाने का भी चुनाव है। इसलिए सबसे पहले देश में नई सरकार बनेगी। इसके बाद हम नये भारत का निर्माण करेंगे।

 

Loading...
Pin It