शहर की सफाई व्यवस्था पर एनजीटी सख्त, कॉलोनी बसाने वालों को देना होगा कूड़ा निस्तारण का प्लान

  • एनजीटी ने नगर निगम को सौंपी जिम्मेदारी
  • एलडीए, आवास विकास और रेलवे से ली जाएगी रिपोर्ट
  • प्लान के आधार पर मॉनिटरिंग कमेटी बनाएगी रणनीति

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर एनजीटी सख्त हो गया है। अब फ्लैट-कॉलोनी बसाने वाले महकमों को बताना होगा कि उन्होंने कूड़ा कलेक्शन व निस्तारण की क्या व्यवस्था की है। यह कदम एनजीटी की मॉनिटरिंग कमेटी द्वारा उठाया गया है। इसके लिए नगर निगम को जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस मामले में नगर निगम एलडीए, आवास विकास और रेलवे को पत्र लिखेगा। पत्र के जरिए कूड़ा निस्तारण संबंधी प्लान मांगा जाएगा है। इसी प्लान के आधार पर एनजीटी की मॉनिटरिंग कमेटी आगे की रणनीति तय करेगी।
नगर निगम के अफसरों की माने तो एनजीटी की मॉनिटरिंग कमेटी की ओर से उठाए गए इस कदम की वजह यह पता लगाना है कि कहीं इन विभागों की ओर से शहर में बसाई गई कॉलोनी आदि का कूड़ा निगम सीमा क्षेत्र में नहीं डाला जा रहा है। संबंधित विभागों के कूड़ा निस्तारण प्लान सामने आने के बाद अगले कदम उठाए जाएंगे। दरअसल, शहर में एलडीए और आवास विकास की ओर से फ्लैट्स बनाने व कॉलोनी बसाने का काम किया जाता है। देखने में आया है कि अगर कोई कॉलोनी नगर निगम में ट्रांसफर नहीं हुई है तो वहां रहने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है जिसमें सफाई व्यवस्था भी शामिल है। साथ ही नियमित रूप से कूड़ा न उठने के कारण जगह-जगह कूड़े के ढेर दिखते हैं। एनजीटी की मॉनीटरिंग कमेटी की ओर से मिले निर्देशों के बाद नगर निगम प्रशासन एलडीए, आवास विकास व रेलवे को पत्र लिखने की तैयारी कर चुका है। इस पत्र में तीन बिंदुओं को लेकर संबंधित महकमों से एक्शन प्लान मांगा जाएगा। निगम प्रशासन की माने तो अगर संबंधित महकमों की ओर से कोई प्लान नहीं दिया जाता है तो माना जाएगा कि उनकी बनाई कॉलोनी आदि का कूड़ा निगम सीमा क्षेत्र में डाला जा रहा है।

एलडीए और आवास विकास की ओर से फ्लैट्स बनाने व कॉलोनी बसाने का काम किया जाता है। देखने में आया है कि अगर कोई कॉलोनी नगर निगम में ट्रांसफर नहीं हुई है तो वहां रहने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है जिसमें सफाई व्यवस्था भी शामिल है। साथ ही नियमित रूप से कूड़ा न उठने के कारण जगह-जगह कूड़े के ढेर दिखते हैं।

निस्तारण की उचित व्यवस्था नहीं

लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) निगम प्रशासन का यह भी कहना है कि हाल में ही कई स्थानों पर रेलवे पटरी के किनारे सर्वे कराया गया था, जिसमें पाया गया था कि कूड़ा निस्तारण की उचित व्यवस्था नहीं है, जिससे साफ था कि कूड़ा नगर निगम सीमा क्षेत्र में फेंका जा रहा है। तीनों महकमों का प्लान जमा होने के बाद मॉनिटरिंग कमेटी की ओर से अपने स्तर से कदम उठाए जाएंगे।

 

Loading...
Pin It

Comments are closed.