मायावती की पार्टी के खाते में सबसे अधिक 670 करोड़ रुपये: चुनाव आयोग

  • आयोग की रिपोर्ट में सभी राजनीतिक दलों के बारे में हुआ चौंकाने वाला खुलासा
  • समाजवादी पार्टी के खाते में 471 करोड़ रुपये का बैंक बैलेंस
  • कांग्रेस के पास 196 करोड़ और भाजपा के पास 82 करोड़ रुपये

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव की सरगर्मी परवान चढ़ रही है। देश की सभी राजनीतिक पार्टियां जोर-शोर से चुनाव प्रचार कर रही हैं। इस प्रचार में तमाम आधुनिक संसाधनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। चुनाव में पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है। जिसका लेखा-जोखा भी राजनीतिक दलों द्वारा चुनाव आयोग को सौंपा जा रहा है। इसी बीच चुनाव आयोग ने एक बड़ा खुलासा किया है। जिसमें बताया गया है कि देश की कौन सी पार्टी के पास सबसे अधिक बैंक बैलेंस है। चुनाव आयोग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के पास देश में किसी भी अन्य दलों की तुलना में बैंक खाते में सबसे ज्यादा पैसा है। मायावती की पार्टी बसपा के अलग-अलग बैंक खातों में कुल 670 करोड़ रुपए जमा हैं।
आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक पैसों के मामले में दूसरे नंबर पर समाजवादी पार्टी (सपा) है। अखिलेश यादव की पार्टी के पास 471 करोड़ रुपए का बैंक बैलेंस है। यहां ये दिलचस्प है कि पैसों के मामले में देश की दो बड़ी पार्टी बीजेपी और कांग्रेस, बीएसपी-एसपी से काफी पीछे हैं। कांग्रेस के पास 196 करोड़ का बैंक बैलेंस है जबकि सत्तापार्टी बीजेपी के पास 82 करोड़ का बैंक बैलेंस है। अन्य दलों में चन्द्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी के पास 107 करोड़, सीपीएम के पास 3 करोड़ और आम आदमी पार्टी के पास 3 करोड़ रुपए का बैंक बैलेंस है। सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के पास एसपी, बीएसपी और कांग्रेस की तुलना में काफी कम बैंक बैलेंस है। जबकि पार्टी को साल 2017-18 में 1027 करोड़ रुपए का चंदा मिला। इसके पीछे की बड़ी वजह चुनाव प्रचार पर बीजेपी का अत्यधिक खर्च माना जा रहा है।

घटती बढ़ती रही आमदनी

चुनाव आयोग की एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017-18 में बीएसपी की आमदनी 174 करोड़ रुपए से घटकर 52 करोड़ हो गई। कांग्रेस पार्टी की साल 2016-17 में आमदनी 225 करोड़ की रही थी। साल 2017-18 के इनकम की जानकारी कांग्रेस पार्टी ने चुनाव आयोग को नहीं सौंपी है। सीपीएम की आमदनी इस दौरान 100 करोड़ रुपए रही है। आपको बता दें कि राजनीतिक पार्टियों को मिले कुल चंदे में स्वैच्छिक दान की हिस्सेदारी 87 फीसदी है।

जवानों की चिता पर राजतिलक करना चाहते हैं मोदी: अजीज कुरैशी

  • पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले को बताया सोची समझी साजिश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। देश में हो रहे आतंकी हमलों, सेना और राजनीति को लेकर उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और मिजोरम के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने पुलवामा आतंकी हमले को सोची-समझी साजिश बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इसके लिए जिम्मेदार बताया है। साथ ही आरोप लगाया है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने प्लान के साथ पुलवामा हमला कराया है, ताकि उन्हें फिर से सत्ता में आने का मौका मिल सके।
अजीज कुरैशी ने कहा कि पुलवामा आपने प्लान करके करवाया है ताकि फिर मौका मिल सके, लेकिन जनता समझती है। अगर मोदी चाहें कि 42 जवानों की हत्या करके, उनकी चिताओं की राख से अपना राजतिलक कर लेंगे तो जनता ऐसा नहीं करने देगी। हालांकि, इससे पहले पुलवामा अटैक के लिए राजनीतिक दलों की तरफ से सीधे पीएम मोदी की तरफ उंगली उठती रही हैं, लेकिन एक पूर्व राज्यपाल का प्रधानमंत्री पर दिया गया ये बयान काफी गंभीर है।
बता दें, पुलवामा हमले के बाद से ही उसकी टाइमिंग को लेकर सवाल उठते रहे हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी सत्ताधारी दल पर जवानों के खून पर राजनीति करने का आरोप लगा चुकी हैं। उनके अलावा भी कई नेता पुलवामा अटैक को लेकर मौजूदा सरकार की नीयत पर सवाल खड़े करते हैं। अब पूर्व राज्यपाल ने भी साफ कह दिया है कि सत्ता में वापसी के लिए पीएम मोदी ने पुलवामा हमले की साजिश रची है।

यूपी में अकेले चुनाव लड़ेगी सुभासपा: ओम प्रकाश

  • कहा, 25 सीटों पर जल्द घोषित करेंगे उम्मीदवार
  • सरकार से अलग होने पर अभी कोई फैसला नहीं

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में भागीदार सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के मुखिया ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी को झटका देते हुए अकेले लोकसभा चुनाव लडऩे का फैसला किया है। राजभर आज 25 उम्मीदवारों के नाम की घोषणा भी करेंगे। हालांकि राजभर मंत्री पद से इस्तीफा नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि इस्तीफा देने के लिए रविवार को सीएम से समय मांगा था लेकिन उन्हें समय नहीं दिया गया। अब वे छठे और सातवें चरण के चुनाव के लिए अपने प्रत्याशी उतारेंगे और मंत्री पद पर भी बने रहेंगे।
राजभर ने कहा कि मैं बीजेपी का नेता नहीं हूं। हमारी अलग पार्टी है। पूर्वांचल में हमारी ताकत को देखते हुए बीजेपी ने हमें अपने साथ लिया है। हम किसी की कृपा से नहीं, लड़ाई लडक़र मंत्री बने हैं। इसलिए बिना किसी लाग लपेट के सच बोलते हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री से जनहित के मुद्दों पर मेरी वैचारिक लड़ाई है। इसके अलावा कोई बात नहीं हैं। इससे पूर्व राजभर ने कहा था कि जब चुनाव नजदीक आता है तो बीजेपी को सहयोगी दल याद आते हैं। इस बार बिल्ली मट्ठा भी फूंककर पिएगी।
बता दें कि राजभर ने स्पष्ट कहा था कि उनकी मांग को अनसुना किया गया तो नुकसान भारतीय जनता पार्टी को उठाना पड़ेगा। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि उनकी पार्टी की हैसियत पूरे प्रदेश में बढ़ी है। इसीलिए सरकार में रहकर भी वह जनता की समस्याओं को लेकर सरकार के खिलाफ बिगुल बजाते से नहीं डरते हैं। फिलहाल प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चार विधायक हैं।

बीजेपी की सरकार में हुए सबसे ज्यादा आतंकी हमले: कमलनाथ

  • कहा, सेना से जुड़े मुद्दे पर लाभ उठाना चाहती है भाजपा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
मध्य प्रदेश। लोकसभा चुनाव प्रचार में जुबानी जंग जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां पाकिस्तान के खिलाफ भारत की कार्रवाई को खूब भुना रहे हैं और इसी बहाने कांग्रेस पर पाकिस्तान के प्रति नरमी बरतने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं कांग्रेस ने प्रधानमंत्री के बयान पर पलटवार किया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि सबसे ज्यादा आतंकी हमले बीजेपी की सरकार में हुए हैं। इसके बावजूद सरकार सैनिकों की बहादुरी को अपना नाम देकर राजनीतिक लाभ उठाना चाहती है।
हरसूद में बैतूल लोकसभा के प्रत्याशी की सभा में कमलनाथ ने कहा कि जब मोदी ने पैंट ओर पायजामा पहनना भी नहीं सीखा था, तब नेहरू और इंदिरा ने फौज बना दी थी। एयर फोर्स और नेवी की स्थापना कर दी थी। मोदी कहते हैं की पहले देश सुरक्षित हाथों में नहीं था, लेकिन मैं बता दूं कि सबसे ज्यादा आतंकी हमले बीजेपी की सरकार में ही हुए हैं, ये लोग सिर्फ गुमराह करने की बात करते हैं, मुद्दों की बात नहीं करते हैं।

सरकार बताए युवाओं और किसानों के लिए क्या किया: प्रियंका

  • फतेहपुर सिकरी में राजबब्बर के समर्थन में मांगा वोट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
प्रियंका गांधी वाड्रा आज राहुल गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ फतेहपुर सिकरी में राजबब्बर के लिए चुनाव प्रचार कर रही हैं। इस दौरान प्रियंका ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और पूछा कि जो सरकार विकास की बातें कर रही है। वह बताए कि उसने किसानों और युवाओं के लिए क्या-क्या किया है।
प्रियंका ने कहा कि प्रधानमंत्री विदेश दौरे में व्यस्त रहते हैं। उनके पास पाकिस्तान में जा कर बिरयानी खाने का समय है। जनता की फिक्र नहीं हैं। चुनाव की वजह से अब फिर जनता के बीच आ गए हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार प्रचार कर रही है। रेल में मिलने वाला सामान हो या मतदानकर्मी का खाने का बॉक्स, हर जगह बस उनका ही प्रचार हो रहा है। युवा बेरोजगार हैं, आलू किसान की लागत दोगुनी हो गई, बीज नहीं है। लाभ कम हुआ तो कोल्ड स्टोरेज बंद हो गए। शिक्षकों ने हक मांगा तो पीटा गया। सब राष्ट्रद्रोही हैं सिर्फ भाजपा के लोग ही राष्ट्रवादी हैं।

Loading...
Pin It