राम और कृष्ण को नहीं मानने वाले अब बजरंग बली की शरण में: योगी

  • मजहब और पंथ की राजनीति करतती है कांग्रेस
  • जब मुजफ्फरनगर में दंगे हो रहे थे तो अजित सिंह कहां थे

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अमरोहा, अलीगढ़ और मैनपुरी में जनसभाओं को संबोधित किया। इस दौरान सीएम ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देश में हमेशा मजहब और पंथ की राजनीति की है लेकिन नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने सबके विकास की नीति पर कार्य किया। कांग्रेस की सरकार में मनमोहन सिंह कहते थे कि देश के संसाधनों में पहला हक मुसलमानों का है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मायावती भी अब बजरंगबली के प्रति आस्था दिखा रही हैं। जो लोग भगवान श्रीराम और श्रीकृष्ण को नहीं मानते थे आज वे बजरंग बली की शरण में आ गए हैं। लोकसभा चुनाव के पहले चरण की आठों सीटों पर सपा-बसपा-रालोद और कांग्रेस का खाता भी नहीं खुलेगा। सपा के झंडे का मतलब गुंडों का झंडा और बसपा का झंडा भ्रष्टाचार की अगुवाई करने वाला झंडा है। यहां के नागरिकों को अजित सिंह से पूछना चाहिए, जब मुजफ्फरनगर में दंगे हो रहे थे तो वे कहां और किसके साथ थे। देश नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री देखना चाहता है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने गरीब को रसोई गैस, आवास और इज्जतघर दिए। मुद्रा योजना से लाभ दिया। किसानों के कर्ज माफ किए गए, पीएम किसान सम्मान निधि समेत कई तरह की योजनाओं से किसानों को लाभान्वित किया गया। विकास कार्यों के कारण जाति की दीवार टूट गईं। जो काम सपा, बसपा और कांग्रेस के लिए नामुमकिन था, वह मोदी ने मुमकिन कर दिया।

Loading...
Pin It