कहीं जमीन तो कहीं मकान दिलाने के नाम पर ठगी

  • गुडम्बा और गौतमपल्ली थाने में दर्ज हुआ मुकदमा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। राजधानी में जालसाजों का बोलबाला है। आये दिन जालसाजी के मामले सामने आ रहे हैं इसके बाद भी पुलिस कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है। गुडम्बा में जमीन और गौतमपल्ली में मकान दिलाने के नाम पर ठगी की गई। पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।
देवरिया निवासी वारिस अली ने पुलिस को बताया कि कुछ दिनों पहले उन्होंने लखनऊ में मकान बनवाने के लिए जमीन खोजनी शुरू की थी। गुडम्बा के पैकरामऊ निवासी दो प्रापर्टी डीलरों जाबिर अली और इमरान अली से उन्होंने सम्पर्क किया। दोनों डीलरों ने दसौली गांव में 6 हजार स्क्वायर फुट जमीन दिखाई। पीडि़त ने जमीन के लिए 14.70 लाख रुपये एडवांस में दे दिए। 7 लाख रुपये कैश और 7.70 लाख के दो चेक दिए गए थे। इसके बाद 9.80 लाख रुपये और दिए थे। इसके बावजूद आरोपित प्रॉपर्टी डीलरों ने जमीन की रजिस्ट्री नहीं करवाई। जमीन न मिलने पर पीडि़त ने अपने रुपये वापस मांगे। रुपये वापस मांगने पर आरोपितों ने वारिस अली को जान से मारने की धमकी दी। गुडम्बा पुलिस ने इस मामले में रिपोर्ट दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है। वहीं बंदरिया बाग इलाके में रहने वाली रानी पाण्डेय को पति की मौत के बाद सचिवालय में चतुर्थ श्रेणी की नौकरी मिली थी। बेटे शिव नारायण पाण्डेय ने बताया कि कुछ साल पहले उन लोगों की मुलाकात मडिय़ावं निवासी प्रेम शर्मा से हुई। वह खुद को एलडीए का बाबू बताता था।
आरोप है कि प्रेम ने रानी पाण्डेय को एलडीए की दुबग्गा स्थित बसंतकुंज योजना में मकान दिलाने का झांसा दिया। पीडि़त पक्ष ने आरोपित को अलग-अलग दिनों में 7 लाख 50 हजार रुपये दिए। आरोपित ने एलडीए की रसीद भी दी थी। आरोपित ने भरोसा जीतने के लिए आवंटन लेटर भी थम दिया। शक होने पर पीडि़त एलडीए दफ्तर पहुंचा। वहां पता चला कि सारे दस्तावेज फर्जी हैं। पीडि़ता के मुताबिक उन्होंने इस संबंध में पहले पुलिस से शिकायत की थी। पुलिस ने उनको टरका दिया था। इसकी शिकायत सीएम से की गई। सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश पर आरोपित प्रेम शर्मा के खिलाफ गौतमपल्ली पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

Loading...
Pin It