बुंदेलखंड की वीर गाथाएं जनता के लिए हमेशा प्रेरणा स्रोत रही हैं: लालजी टंडन

  • 4पीएम के संपादक संजय शर्मा को किया गया सम्मानित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में लोकहित प्रकाशन उत्तर प्रदेश लखनऊ द्वारा रविवार को यशपाल सभागार हिंदी साहित्य संस्थान में विमोचन एवं साहित्य सम्मान समारोह आयोजित किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने अपने उद्बोधन में कहा कि बुंदेलखंड की वीर गाथाएं और परंपराएं जनता के लिए सदैव प्रेरणा स्रोत रही हैं। देश के युवाओं ने वीर गाथाओं से प्रेरित होकर देश पर जान न्यौछावर करने का काम किया है। इस कार्यक्रम में महापौर संयुक्ता भाटिया भी उपस्थित रहीं।
लालजी टंडन ने कहा कि डॉक्टर राम मनोहर लोहिया और पंडित दीनदयाल के साथ मैने लंबा समय गुजारा है। इन दोनों विभूतियों ने अपने महान विचारों से देश को एक नई ऊर्जा प्रदान करने का काम किया है। वे हृदय से आत्मिक सम्मान करने वाले लोग थे। दीनदयाल उपाध्याय जी के विचार सर्वे भवंतु सुखिन: सर्वे संतु निरामया: का भाव समेटे हुए हैं। जो राष्ट्र में सांस्कृतिक भावों का प्रसार करते हैं। इस कार्यक्रम में साहित्य सुधि जन, पत्रकार, साहित्यकार, जनसेवक एवं अनेक विधाओं से जुड़े लोगों को सम्मानित किया गया, जिसमें 4पीएम व वीकएंड टाइम्स के संपादक संजय शर्मा समेत कई अन्य लोग शामिल रहे। इस कार्यक्रम का संचालन कुमार अशोक ने किया।

पुस्तक का विमोचन

राज्यपाल लालजी टंडन ने लेखक कुमार अशोक पांडेय की किताब सांस्कृतिक राष्ट्र आईने में दीन दयाल उपाध्याय का विमोचन किया। राज्यपाल ने पुस्तक के माध्यम से दीनदयाल को याद किया। साथ ही सभा में मौजूद लोगों को उनके जीवन से प्रेरणा लेने की सलाह दी। इस कार्यक्रम में अखिल भारतीय साहित्य परिषद के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर पवन पुत्र बादल, संघ प्रचारक व भाजपा नेता प्रद्युम्न कुमार और सर्वेश चंद्र द्विवेदी भी मौजूद रहे।

 

Loading...
Pin It