जमीन पर कहीं नहीं है सपा-बसपा गठबंधन: सीएम योगी

  • वजूद बचाने के लिए मुस्लिमों से वोट मांग रहीं मायावती
  • पीएम मोदी के काम से जनता है उत्साहित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन जमीन पर कहीं नहीं है। जनता इन दलों की सरकारों में भ्रष्टाचार और अराजकता को भूली नहीं है। मायावती अपने वजूद को बचाने के लिए मुस्लिमों से वोट मांग रही हैं। डॉ. भीम राव आम्बेडकर दलित मुस्लिम के साथ आने के विरोधी थे। उन्होंने मुस्लिम लीग और अलग पाकिस्तान बनाने का विरोध
किया था।
अपने आवास पर मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र से लगता है कि उसका हाथ देशद्रोहियों के साथ हो गया है। यही हरा वायरस है जिसे कांग्रेस के साथ सपा-बसपा जैसे दल बढ़ावा दे रहे हैं। यह वायरस देश के लिए खतरनाक है। उन्होंने कहा कि अजित सिंह व उनके बेटे जयंत चौधरी दोनों की स्थिति कमजोर है। इन लोगों से जाट समुदाय भी नाराज है। सीएम ने कहा कि सपा-बसपा के राज में गुंडागर्दी व अराजकता का ऐसा बोलबाला था कि जनता कराह उठी थी। विकास केवल कुछ जिलों तक ही सीमित था। हमारी सरकार ने अराजकता को खत्म किया। बंद चीनी मिलें खुलवाईं। नियुक्तियों में धांधली को खत्म किया। सुशासन व विकास को अहमियत देते हुए सुरक्षा, रोजगार देने का काम किया। सीएम ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी में सांसदों के टिकट कटने को लेकर कोई नाराजगी नहीं है, जिनको प्रत्याशी नहीं बनाया गया है, उनकी कहीं और सेवाएं ली जाएंगी। कुछ सांसदों के खिलाफ एंटी इंकेम्बेंसी को देखते हुए उनका टिकट काटा गया है। इसके अलावा कलराज मिश्र, उमा भारती समेत कई वरिष्ठ नेताओं ने तो खुद ही चुनाव लडऩे से मना कर दिया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा दोनों चरणों की सभी सीटें जीत रही है। हम लोग प्रदेश में 74 से ज्यादा सीटें जीत रहे हैं। पूरे देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काम से लोग उत्साहित हैं। मोदी सरकार ने पांच साल में ऐसे उल्लेखनीय काम किए जो कांग्रेस के 55 साल के शासन में नहीं हो पाए।

Loading...
Pin It