संक्षिप्त खबरें

सिविल में थायराइड जांच मशीन खराब
लखनऊ।(4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) सिविल अस्पताल में बुधवार को मरीजों की थायराइड की जांच नहीं हो सकी। मशीन खराब होने से मरीजों को दुश्वारियां झेलनी पड़ीं। मरीजों को बिना जांच लौटना पड़ा। पैथालॉजी कर्मचारियों ने मरीज को मशीन ठीक होने बाद आने की बात कही है। सिविल अस्पताल में हर रोज करीब छह से सात हजार मरीजों की ओपीडी होती है। इसमें करीब आठ सौ मरीजों के खून की जांच होती है। मशीन में सुबह खराबी आ गई। इससे आने वाले मरीजों के खून के नमूने नहीं लिए गए। कई मरीजों ने प्राइवेट पैथालॉजी से जांचें कराई।

ओपीडी में बिजली गुल, मरीज परेशान
लखनऊ।(4पीएम न्यूज़ नेटवर्क)गर्मी शुरू होते ही केजीएमयू की बिजली ने रंग दिखाना शुरू कर दिया है। बुधवार को केजीएमयू की पुरानी ओपीडी में बिजली गुल रही। बिजली न होने के कारण केजीएमयू में घंटों इलाज के लिए मरीजों को परेशान होना पड़ा। साढ़े दस बजे तक कई डॉक्टर ओपीडी में नहीं पहुंचे। इससे ओपीडी में अफरा-तफरी मच गई। गर्मी से बेहाल एक मरीज बेहोश हो गया। पुरानी ओपीडी में एचआईवी संक्रमित मरीजों के इलाज व जांच के लिए एआरटी सेंटर संचालित हो रहा हैं। नेत्र, ईएनटी, मेडिसिन समेत दूसरे विभागों का संचालन हो रहा है। सुबह तकनीकी खराबी से पुरानी ओपीडी ब्लॉक की बिजली गुल हो गई। पंजीकरण के बाद मरीज डॉक्टरों के कमरे के बाहर कतार में खडे ़हो गए। बिजली गुल होने से डॉक्टर व कर्मचारी काफी देर तक नहीं आए। ओपीडी ब्लॉक में अफरा-तफरी
मच गई। एसी-पंखे बंद हो गए। काफी मशक्कत के बाद खराबी ठीक की जा सकी।

पेयजल की समस्या से जूझ रही जनता
लखनऊ।(4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) गर्मियों के साथ ही शहर में पेयजल की समस्या पैदा हो गई है। पिछले कई दिनों से कृष्णानगर स्थित मानसनगर और सिंधुनगर इलाके में पेयजल की समस्या से लोग परेशान हैं। मानसनगर मोहल्ले में लगी टंकी का वाल्व कई दिनों से खराब होने के कारण यह समस्या पैदा हो गई है। पिछले कई दिनों से मानसनगर और सिंधुनगर इलाके के लोगों को उन घरों से पानी लेना पड़ रहा है जहां सबमर्सिबल पंप लगे हैं। इसके अलावा कई लोग दूरदराज से पानी की जरूरत पूरी करनी पड़ रही है जिससे सिंधुनगर, आशुतोषनगर, भोलाखेड़ा व जाफरखेड़ा आदि मोहल्लों में जलापूर्ति ठप है। वहीं, दूसरी ओर बुधवार को स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम और जलकल की संयुक्त टीम ने शहर के विभिन्न इलाकों में पानी के नमूने लिये गए, जिसमें से दस नमूनों में से एक नमूना फेल हुआ। हुसैनाबाद में चाइल्ड केयर क्लीनिक के सामने वाले घर में क्लोरीन की मात्रा मानक के विपरीत पाई गई।

Loading...
Pin It