दो दिन से पुलिस कर रही पूछताछ, फिर भी नहीं पता चला रुपयों का

  • गोसाईंगंज के ओमेक्स सिटी में पुलिसकर्मियों द्वारा डकैती डालने का मामला

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोसाईंगंज के ओमेक्स सिटी में पुलिसकर्मियों द्वारा डाली गई डकैती के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी मधुकर मिश्रा को रिमांड पर लिया है। पुलिस आरोपी से दो दिन तक पूछताछ करने के बाद भी रुपयों के बारे में कुछ उगलवा नहीं पाई। पुलिस सूत्रों की मानें तो कुछ रुपये ही बरामद हो पाए हैं। सीओ मोहनलालगंज राजकुमार शुक्ला के अनुसार छानबीन जारी है।
गोसाईंगंज स्थित ओमेक्स सिटी में कोयला करोबारी अंकित अग्रहरी और उसके साथियों को गन प्वॉइंट पर बंधक बनाकर दारोगा आशीष तिवारी, पवन मिश्रा, सिपाही प्रदीप भदौरिया सहित सात लोगों ने डकैती डाली थी। छानबीन में पता चला था कि डकैती में मधुकर मिश्रा और उसके दो साथी भी शामिल थे। वारदात का खुलासा होने पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर दोनों आरोपित दारोगा आशीष और पवन के साथ ही सिपाही और उसके निजी ड्राइवर आनंद यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस मामले में मधुकर मिश्रा को पुलिस ने मुख्य आरोपित बनाया है। फ्लैट में 3 करोड़ 38 लाख रूपये रखे थे। थाने में रुपये गिनने पर 1.85 करोड़ की लूट का पता चला। पुलिस ने सिपाही और उसके ड्राइवर के कमरे से 2.40 लाख रुपये बरामद करने का दावा किया। पकड़े गए पुलिसकर्मियों का कहना था कि बाकी रकम लेकर मधुकर मिश्रा फरार हो गया है। लूट की बाकी रकम का पता लगाने और फरार आरोपितों तक पहुंचने के लिए पुलिस ने मधुकर को गुरुवार से पांच दिन की रिमांड पर लिया है। दो दिन की पूछताछ में पुलिस को कुछ खास जानकारी नहीं मिल सकी है। सूत्रों के अनुसार मुख्य आरोपित घटना में शामिल होने से ही इनकार कर रहा है।

 

Loading...
Pin It