EVM विवाद: 21 विपक्षी दलों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को भेजा नोटिस

  • सीजेआई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा अगली सुनवाई में उपस्थित रहेगा आयोग का वरिष्ठ अधिकारी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। ईवीएम को लेकर 21 विपक्षी दलों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय ने चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया है। इस मामले की अगली सुनवाई 25 मार्च को होगी। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने चुनाव आयोग को अदालत की सहायता के लिए एक वरिष्ठ अधिकारी की प्रतिनियुक्ति करने के लिए कहा है।
देश के 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर लोकसभा चुनाव में इस्तेमाल होने वाले ईवीएम और वीवीपीएटी में से 50 फीसदी का औचक निरीक्षण करने की मांग की थी। इन दलों का कहना है कि निष्पक्ष और डर रहित चुनाव के लिए ऐसा किया जाना जरूरी है। आंध्र देश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल सहित 21 विपक्षी दलों के नेताओं द्वारा दायर इस याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की। याचिकाकर्ता नेताओं ने कहा था कि ईवीएम और वीवीपीएटी की विश्वसनीयता पर पहले ही सवाल है, लिहाजा स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए कम से कम 50 फीसदी ईवीएम और वीवीपीएटी का औचक निरीक्षण होना चाहिए। याचिका में कहा गया था कि लोकसभा चुनाव के परिणाम घोषित करने से पहले यह औचक निरीक्षण होना चाहिए। याचिकाकर्ता नेताओं ने कहा कि स्वस्थ लोकतंत्र के लिए निष्पक्ष चुनाव होना चाहिए और इसके लिए पुख्ता इंतजाम होना चाहिए। बता दें, जनवरी में तमिलनाडु निवासी एमजी देवाश्याम सहित दो अन्य लोगों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर लोकसभा चुनाव से ईवीएम के जरिए होने वाले मतदान के कम से कम 30 फीसदी वोटों का मिलान वोटर वेरिफाइएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) से करने की गुहार की गई थी।

इन नेताओं ने दाखिल की थी याचिका

याचिका दायर करने वालों में शरद पवार, केसी वेणुगोपाल, डेरेक ओब्रायन, शरद यादव, अखिलेश यादव, सतीश चंद्र मिश्रा, एमके स्टालिन, टीके रंगराजन, मनोज कुमार झा, फारुख अब्दुल्ला, एए. रेड्डी, कुमार दानिश अली, अजीत सिंह, मोहम्मद बदरूद्दीन अजमल, जीतन राम मांझी, प्रो. अशोक कुमार मिश्र आदि शामिल हैं।

विशेष अदालत बनाने की याचिका खारिज

सुप्रीम कोर्ट ने आज एक अन्य फैसले में आदर्श आचार संहिता से जुड़ी एक याचिका को खारिज कर दिया है। अदालत में याचिका दायर कर मांग की गई थी कि चुनाव लडऩे वाले जो भी उम्मीदवार आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करें उनके मामलों की सुनवाई के लिए देश भर में विशेष अदालतें बनाई जाएं। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को सुनने के बजाय खारिज कर दिया।

न्यूजीलैंड में आतंकी हमला, बाल-बाल बची बांग्लादेश की क्रिकेट टीम, 40 की मौत

  • चार हमलावरों को हिरासत में लेकर की जा रही पूछताछ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
न्यूजूलैंड। न्यूजीलैंड के क्राइस्ट चर्च की दो मस्जिदों में आतंकी हमला हुआ है। यहां हुई गोलीबारी में 40 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये हैं। बताया जा रहा है कि हमलावरों का निशाना बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ी थे, जो हमले के वक्त मस्जिद में नमाज अदा करने जा रहे थे। लेकिन गोलियों की आवाज सुनकर खिलाड़ी अलर्ट हो गये और किसी तरह छिपकर अपनी जान बचाई। न्यूजीलैंड की पीएम जैसिंडा आर्डर्न ने इस घटना को देश के लिए काला दिन बताया है। साथ ही देश की सभी मस्जिदों को बंद करने का आदेश दिया है।
बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के प्रवक्ता जलाल यूनुस ने बताया कि पूरी टीम को बस में बिठाकर मस्जिद लाया गया था और जब गोलीबारी हुई, तब टीम मस्जिद में प्रवेश करने ही वाली थी। उन्होंने कहा कि वे सुरक्षित हैं, लेकिन सदमे में हैं। टीम से होटल में ही रहने को कहा गया है। खिलाड़ी तमीम इकबाल ने ट्वीट किया कि यह ‘डरावना अनुभव था और हमलावर गोलीबारी कर रहे थे। पूरी टीम गोलीबारी से बच गई। डराने वाला अनुभव था, और कृपया हमारे लिए प्रार्थना कीजिए।’ वहीं हमलावर ने 17 मिनट तक गोलीबारी की घटना को सोशल मीडिया पर दिखाया। वहीं न्यूजीलैंड पुलिस के माइक बुश ने कहा कि चार लोग हिरासत में लिए गए हैं, जिसमें से एक महिला और तीन पुरुष हैं। हम अभी भी परिस्थितियों पर नजर बनाए हुए हैं।

माया करेंगी मुलायम का प्रचार, अपर्णा के संभल से चुनाव लडऩे की अटकलों पर विराम

  • मैनपुरी में होने वाली रैली को लेकर गठबंधन में उत्साह
  • सपा ने चार और प्रत्याशी किए घोषित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती, समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव का प्रचार करेंगी। इसके लिए वे मैनपुरी में सपा के साथ संयुक्त रैली करेंगी। मुलायम की जीत के लिए मायावती को मंच से वोट मांगने का दृश्य देखने और भाषण सुनने को लेकर गठबंधन के कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह है। इसी बीच सपा ने लोकसभा के चार और प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है। इसमें बहुप्रतीक्षित संभल सीट भी है, जहां से अपर्णा यादव ने चुनाव लडऩे की इच्छा जाहिर की थी, लेकिन पार्टी हाईकमान ने संभल से अपर्णा की जगह सफीकुर्रहमान बर्क को टिकट दे दिया है।
लोकसभा चुनाव में गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रही सपा और बसपा होली के बाद से संयुक्त रैली शुरू करेंगी। इन रैलियों में सबसे खास होगी मैनपुरी में बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली, जिसमें वह सपा संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के लिए जनता से वोट मांगेंगी। अब तक की राजनीति में मुलायम और मायावती की पार्टी एक-दूसरे से मुकाबला करती थी, लेकिन अखिलेश यादव के प्रयासों और गठबंधन की वजह से स्थितियां बदल गई हैं। अखिलेश ने बुआ को मनाकर यूपी की राजनीति में नये बदलाव के संकेत दिए हैं, साथ ही रालोद को भी गठबंधन में शामिल कर लिया है। इसलिए सत्ताधारी पार्टी भाजपा की मुश्किलें बढ़ गई है। वह अखिलेश के प्रयासों से बने गठबंधन की काट निकालने में जुट गई है। वहीं चुनावी सर्वेक्षणों में लोकसभा चुनाव के दौरान यूपी में घटती सीटों के ओपिनियन ने भी भाजपा को परेशान कर दिया है। माना जा रहा है कि गठबंधन का प्रदर्शन यूपी में बेहतर होगा।

अपर्णा की जगह सफीकुर्रहमान को मिला संभल से टिकट
समाजवादी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए चार प्रत्याशियों के नामों की एक और सूची जारी कर दी है। इसमें बाराबंकी से राम सागर रावत, गोण्डा से विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह, कैराना से तबस्सुम हसन व संभल से सफीकुर्रहमान बर्क को टिकट दिया गया है। जबकि मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने संभल सीट से लोकसभा चुनाव लडऩे की इच्छा जाहिर की थी, लेकिन आज सपा ने जो सूची जारी की है, उसमें संभल सीट से चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशी के रूप में उनका नाम नहीं है। इसलिए अपर्णा किस लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगी, इसको लेकर चर्चाओं और अटकलों का दौर शुरू हो गया है।

 

Loading...
Pin It