डकैती मामले में पांच दिन की रिमांड पर आरोपी वकील

  • रुपये बरामद करने का प्रयास कर रही पुलिस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोसाईगंज थाना क्षेत्र के ओमेक्स रेजीडेंसी के फ्लैट में पुलिसकर्मियों के डाका डालने के मामले में अधिवक्ता मधुकर को पुलिस ने रिमांड पर लिया है। उससे पुलिस रुपये बरामद करने का प्रयास करेगी। हालांकि इसमें पुलिस कितना सफल होती है, यह तो समय ही बतायेगा।
राजधानी के चर्चित ओमेक्स रेजीडेंसी के फ्लैट में पुलिसकर्मियों के डाका डालने के मामले में कोर्ट में आत्मसमर्पण करने वाले अधिवक्ता मधुकर को पुलिस ने रिमांड पर लिया गया है। मामले में अभी भी दो आरोपित फरार हैं। 11 मार्च को आरोपित मुखबिर मधुकर ने स्पेशल सीजीएम छह के अंतर्गत खुद समर्पण किया था। आरोपित गाजीपुर थाने में दर्ज पुराने मामले में हाजिर हुआ था। इस मामले में अब तक दारोगा पवन कुमार मिश्रा, आशीष तिवारी, सिपाही प्रदीप कुमार भदौरिया और उसके निजी वाहन चालक आनंद यादव को बीते दिन यानी 10 मार्च को रिमांड मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। न्यायालय ने चारों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया है। सीसी टीवी कैमरे में आरोपित 9 मार्च की सुबह फ्लैट में दाखिल होते नजर आए हैं। महज 10 मिनट में ही आरोपितों ने दो बैग में एक करोड़ 85 लाख रुपये भर लिए। इसके बाद दारोगा पवन को अपार्टमेंट के नीचे मुखबिर मधुकर के साथ उसकी गाड़ी में रुपये रखवाते देखा गया है। रुपये मिलने के बाद मधुकर वहां से चला गया था। बताया गया कि गोसाईगंज थाने में तैनात प्रशिक्षु आईपीएस भी ओमेक्स रेजीडेंसी में ही रहते हैं, जो जानकारी मिलने के कुछ ही देर बाद वहां पहुंच गए थे।

 

Loading...
Pin It