ट्विटर की चौपाल में बोले अखिलेश, हमारी सरकार में मिली युवाओं को सबसे ज्यादा नौकरी

कन्नौज के फकीरपुर में लगी ‘अखिलेश चौपाल’ में उमड़ी भारी भीड़
चौपाल में युवाओं के जोश को देखकर ट्विटर टीम भी हैरान
आगरा एक्सप्रेसवे देखकर खुश हुुए ट्विटर की टीम के लोग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। युवाओं में सोशल मीडिया का बढ़ता क्रेज देखकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया के जरिए चुनावी शंखनाद शुरू कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कन्नौज के फकीरपुरवा में ई-चौपाल लगाई, जिसे हैशटैग अखिलेश चौपाल नाम दिया गया। इस चौपाल में पूर्व मुख्यमंत्री ने हजारों की संख्या में जुटे युवाओं के सवालों का बेबाकी से जबाव दिया। ट्विटर टीम आगरा एक्सप्रेस वे और चौपाल में जुटी भीड़ देख कर खुश हो गई। अखिलेश यादव ने कहा कि युवाओं के नौकरी से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में सबसे अधिक युवाओं को नौकरी दी गई। जो लोग बेरोजगार थे, उन्हें बेरोजगारी भत्ता दिया गया। साथ ही असहाय और गरीब परिवारों को समाजवादी पेंशन देकर उनकी आर्थिक और सामाजिक स्थिति को मजबूत करने का काम किया गया। लेकिन प्रदेश में सरकार बदलते ही सपा सरकार की सारी महत्वाकांक्षी योजनाएं बंद हो गईं। अब रोजगार मांगने वालों को लाठियां दी जा रही हैं। बता दें, अखिलेश कन्नौज से ही लोकसभा चुनाव लडऩे की तैयारी में हैं।

सपा-बसपा गठबंधन से डरी भाजपा: राजेश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन की आहट से ही भाजपा की चूलें हिलने लगी हैं। इसी वजह से केंद्र सरकार ने सीबीआई का तोता छोड़ कर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को दबाव में लेने की कोशिश की है, लेकिन उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि वे डरने वाले नहीं हैं। अब तो प्रदेश की जनता भी भाजपा को जड़ से उखाड़ फेंकना चाहती है। इसलिए सपा-बसपा गठबंधन नया इतिहास रचेगा।

नगर निगम: कान्हा उपवन में वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने की यूनिट शुरू

गोबर और मंदिरों से निकलने वाले फूलों से निर्मित होगी कम्पोस्ट खाद
केंचुआ युक्त खाद से बढ़ेगी खेती की उर्वरक क्षमता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में गोबर और कचरे को आय का स्त्रोत बनाने के लिए कान्हा उपवन में वर्मी कम्पोस्ट खाद की यूनिट लगाई गई है। इस यूनिट ने आज से गोबर और कचरे से खाद बनाने का काम शुरू कर दिया है। अपर नगर आयुक्त अनिल मिश्रा ने बताया कि वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए मंदिरों से निकलने वाले फूल और गोबर का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आज के समय में बढ़ते पेस्टिसाइड का इस्तेमाल हानिकारक होता जा रहा है। ऐसे में कान्हा उपवन से निकलने वाली खाद को मार्केट रेट से 50 प्रतिशत कम कीमत पर बेचा जाएगा। इस व्यवस्था से आस पास के किसानों और नगर निगम दोनों का फायदा होगा। अपर नगर आयुक्त के मुताबिक कान्हा उपवन में मौजूद गाय के गोबर और मंदिर से निकलने वाले फूलों से बेहतर गुणवत्ता वाली खाद बनेगी। इस खाद से करीब 5.5 किलो पैकेट बना कर बिक्री की जाएगी। मौजूदा समय में कान्हा उपवन में करीब 4 हजार से अधिक पशु हैं। हर गाय प्रतिदिन 5 किलो गोबर देती है। इसके चलते 10 हजार किलो खाद बनाने का लक्ष्य प्रतिदिन रखा गया है। इतनी खाद के लिए 2 हजार गाय पर्याप्त हैं। इसके अलावा मंदिरों से निकलने वाले फूल, कान्हा उपवन में मौजूद गायों से मिलने वाले गोबर की मदद से वर्मी कम्पोस्ट (उर्वरक) तैयार की जाएगी। इसकी उर्वरक क्षमता बढ़ाने के लिए केंचुआ भी डाला लाएगा। बता दें, अपर नगर आयुक्त अनिल कुमार मिश्र ने मंदिरो से निकलने वाले फूलों और केचुआ द्वारा निर्मित खाद की इकाई की शुरुआत की। वर्मी खाद के पीटो के शेड के लिए निगम द्वारा अतिक्रमण में प्राप्त लोहे आदि को उपयोग में लेने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि निगम पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ न पड़े।

Loading...
Pin It