भ्रष्टïाचार पर लगाम लगाने की तैयारी, अब अभियंताओं को देना होगा संपत्ति का ब्यौरा

  • आवास विभाग ने सभी प्राधिकरणों के उपाध्यक्षों को ब्यौरा जुटाने का जारी किया आदेश
  • ब्यौरा नहीं देने वाले अभियंताओं के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई, आदेश से हड़कंप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। प्रदेश के विकास प्राधिकरणों में भ्रष्टाचार के जरिए आय से अधिक संपत्ति बनाने वाले अभियंताओं पर शिकंजा कसने की तैयारी की जा रही है। अब प्राधिकरणों में तैनात अभियंताओं को अपनी सम्पत्ति का ब्यौरा देना आवश्यक कर दिया है। इस संबंध में आवास विभाग ने इस प्रदेश के सभी विकास प्राधिकरणों को आदेश जारी कर दिया है। यही नहीं जो अभियंता अपनी सम्पत्ति का ब्यौरा नहीं देंगे उनके खिलाफ कार्रवाई भी होगी।
विकास प्राधिकरण केंद्रीयत सेवा के अवर अभियंता, सहायक अभियंता, अधिशासी अभियंता, अधीक्षण अभियंता और मुख्य अभियंताओं को अपनी अचल संपत्ति का ब्यौरा देना होगा। यह ब्यौरा जल्द से जल्द आवास विभाग ने उपलब्ध कराने को कहा है। अभियंताओं को अपनी संपत्ति का विवरण निर्धारित प्रारूप पर अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना होगा। अभियंताओं से यह ब्यौरा उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी संबंधित उपाध्यक्ष की होगी। आवास विभाग ने इस संबंध में सभी विकास प्राधिकरणों के उपाध्यक्षों और अध्यक्ष समस्त विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरणों को इस संबंध में आदेश भेज दिया है। बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है। जब प्राधिकरणों में तैनात अभियंताओं की सम्पत्ति का ब्यौरा मांग गया है। इससे पहले भी कई बार अभियंताओं से सम्पत्ति का विवरण मांगा जा चुका है, लेकिन इस काम में अभी तक बड़े पैमाने पर हीलाहवाली होती रही है। ताजा आदेश से प्राधिकरणों में तैनात अभियंताओं में हड़कंप मचा हुआ है।

Loading...
Pin It