लखनऊ में आईएएस बी.चंद्रकला के घर पर सीबीआई का छापा

  • लोकसभा चुनावों से पहले पड़े इन छापों के जरिए सपा की घेराबंदी की तैयारी
  • कल हुई थी अखिलेश और माया की मीटिंग और 24 घंटे में सीबीआई हो गई अवैध खनन को लेकर एक्टिव
  • वैध खनन में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के जरिए सपा नेताओं तक पहुंचने की तैयारी
  • आईएएस अफसरों को भी चढ़ी कंपकंपी, सत्ता के करीबी रहने का खुमार उतरा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ में आईएएस बी. चंद्रकला के घर पर पड़े सीबीआई के छापों ने नौकरशाही में सनसनी फैला दी है। अवैध खनन के आरोप में देश में एक दर्जन से ज्यादा जगहों पर सीबीआई ने आज छापेमारी की। सूत्रों का कहना है कि छापे में करोड़ों रुपए की अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है। लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले ही सीबीआई की इस रेड को राजनीतिक रूप से भी जोड़कर देखा जा रहा है क्योंकि बी. चंद्रकला के पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से भी अच्छे रिश्ते थे। खबर लिखे जाने तक छापेमारी जारी है। माना जा रहा है कि अवैध खनन के इस धंधे में कुछ और बड़े नौकरशाहों के भी फंसने की उम्मीद है।
आज सुबह लखनऊ में उस समय सनसनी फैल गई जब लखनऊ के सफायर अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 101 में सीबीआई की टीम छापा मारने पहुंची। यह फ्लैट बी. चंद्रकला का है। सीबीआई की टीम ने घर को चारों ओर से घेर लिया और पड़ताल शुरू कर दी। लखनऊ में आईएएस के घर पर पड़े छापे ने नौकरशाहों के बीच खलबली मचा दी। गौरतलब है कि बी. चंद्रकला जब हमीरपुर में डीएम थीं तब इस जिले में 50 मौरंग के खनन के पट्टे हुए थे जोकि नियमानुसार गलत हैं। इसको लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर हुई थी और हाईकोर्ट ने सभी पट्टों को अवैध घोषित करते हुए इसकी सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। इसके अलावा सीबीआई ने आज हमीरपुर के दो बड़े मौरंग व्यवसायियों के साथ दिल्ली और अन्य ठिकानों पर एक साथ छापा मारा। इन छापों ने न सिर्फ नौकरशाहों बल्कि राजनेताओं के बीच भी खलबली मचा दी है। यूपी में अवैध खनन की लगातार शिकायतें आती रही थीं। गायत्री प्रजापति अवैध खनन के मामले में खासे बदनाम थे। उन्होंने अपने चहेते नौकरशाहों के साथ मिलकर अरबों का साम्राज्य खड़ा कर लिया था। माना जा रहा है कि अब जब लोकसभा चुनावों में कुछ महीने ही बचे हैं तो सीबीआई इस रेड के बहाने कुछ राजनेताओं तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। कल ही अखिलेश यादव और मायावती के बीच बैठक के बाद यूपी में महागठबंधन की सीटों को लेकर बातचीत हुई और उसके 24 घंटे बाद सीबीआई की रेड साबित कर रही है अवैध खनन से जुड़े कुछ और बड़े मामले अब जल्दी ही सामने आएंगे।

सोशल मीडिया पर देश में सबसे चर्चित आईएएस अफसर हैं बी. चंद्रकला

बी. चंद्रकला बेहद तेज तर्रार छवि की अधिकारी मानी जाती हैं। वह सोशल मीडिया पर भी काफी सक्रिय रहती हैं। बीते दिसंबर में उन्होंने लखनऊ मेट्रो के सफर के दौरान अपनी सेल्फी सोशल मीडिया पर डाली थी, जो काफी चर्चित रही थी। बी. चंद्रकला तेलंगाना के करीमनगर की रहने वाली हैं। वे 2008 बैच की यूपी कैडर की आईएएस अधिकारी हैं। अपने कामों को लेकर हमेशा ही चर्चा में रही हैं। साल 2014 में उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जब वह बुलंदशहर की डीएम थीं। उस वीडियो ने सोशल मीडिया पर सनसनी मचा दी थी।

मौरंग व्यापारियों के यहां भी दबिश

सीबीआई ने जालौन के उरई में बालू घाट संचालकों के प्रतिष्ठानों पर छापा मारा है। यहां पर सीबीआई करन सिंह व रामअवतार राजपूत के घर के अंदर जांच पर रही है। इसके अलावा हमीरपुर के बड़े मौरंग व्यापारी रमेश मिश्रा और सत्यदेव दीक्षित के यहां भी छापेमारी चल रही है। बेड और सोफे को खोलकर जांच की जा रही है। सीबीआई की 15 सदस्यीय टीम कार्रवाई में जुटी है।

याचिका पर कार्रवाई

अवैध खनन मामले के याचिका कर्ता विजय द्विवेदी के मुताबिक मौरंग खदानों पर पूरी तरह से रोक लगाने के बाद भी जिले में अवैध खनन खुलेआम किया गया। 28 जुलाई 2016 को तमाम शिकायतें व याचिका पर सुनवाई करते हुये हाईकोर्ट ने अवैध खनन की जांच सीबीआई को सौंप दी थी।

पहले भी लग चुके हैं चंद्रकला पर ‘दागÓ

  •  साल 2017 में आईएएस बी. चंद्रकला अपनी संपत्ति का ब्योरा देने में डिफॉल्टर साबित हुई थीं। दरअसल, सिविल सेवा अधिकारियों को 2014 के लिए 15 जनवरी 2015 तक अपनी संपत्ति का रिकॉर्ड पेश करना था लेकिन एक साल बीतने के बाद भी इन अधिकारियों ने अपनी संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया था। चंदकला का नाम भी इसमें शामिल था।
  •   केंद्र सरकार के सामान्य प्रशासन एवं प्रशिक्षण विभाग की जानकारी के मुताबिक चंद्रकला की संपत्ति 2011-12 में सिर्फ 10 लाख रुपये थी। 2013-14 में यह बढ़कर करीब एक करोड़ रुपये हो गई यानी एक साल में उनकी संपत्ति 90 फीसदी बढ़ी।
  • 2011-12 में अपने गहने बेचकर और वेतन से चंद्रकला ने आंध्र प्रदेश के उप्पल में 10 लाख का फ्लैट खरीदा था। अब उनके पास लखनऊ के सरोजिनी नायडू मार्ग पर अपनी बेटी कीर्ति चंद्रकला के नाम से 55 लाख का फ्लैट है। हालांकि उन्होंने दावा किया था कि यह फ्लैट उनके सास-ससुर ने उन्हें गिफ्ट किया था। इसके अलावा आन्ध्र प्रदेश के अनूपनगर में भी उन्होंने 30 लाख का एक मकान खरीदा है। इससे वह 1.50 लाख रुपये सालाना कमाई का दावा करती हैं।
Loading...
Pin It