विजिलेंस की जांच और भ्रष्टाचार के आरोप ठंडे बस्ते में, करोड़ों के गबन के आरोपी बने हैं निर्माण निगम के एमडी

  • भ्रष्टïाचार के आरोप में राजन मित्तल के खिलाफ बैठाई गई थी जांच
  • बिना टेंडर सडक़ मरम्मत का कराया था काम और भुगतान भी कर दिया
  • वाराणसी में पुल गिरने में 20 लोगों की मौत के बाद बनाए गए एमडी
  • राजनीतिक आकाओं की शह पर सरकार को बदनाम कर रहे अफसर

गणेश जी वर्मा

लखनऊ। प्रदेश के बड़े अफसर अपने राजनीतिक आकाओं की शह पर पूरी सरकार को बदनाम करने पर तुले हैं। ऐसा ही एक मामला निर्माण निगम का है। यहां विजिलेंस जांच और भ्रष्टïाचार के आरोपों के बावजूद राजन मित्तल को निर्माण निगम का एमडी बना दिया गया है। यही नहीं इनके खिलाफ विजिलेंस की जांच को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।
मेरठ मंडल में 2007 से 2012 के बीच सडक़ों के एनुअल मेंटीनेंस (वार्षिक अनुरक्षण)और एसआर (स्पेशल रिपेयर) मद में कराये गए कार्य में वित्तीय अनियमितता पाये जाने के बाद विजिलेंस जांच बैठाई गई थी। आरोप है कि एनुअल व एसआर मद में निर्धारित प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया। जिससे राज्य सरकार को करोड़ों रुपये की हानि हुई। यह मामला तब का है जब राजन मित्तल प्रान्तीय खंड मेरठ में अधिशाषी अभियंता के पद पर तैनात थे। मेरठ में उस दौरान लगभग तीन दर्जन सडक़ों का मेंटीनेंस किया जाना था लेकिन इस कार्य के लिए बिना टेंडर निकाले विभाग ने एक-एक लाख रुपये के बांड बनाकर सडक़ों का मेंटीनेंस दिखाया और इसका भुगतान भी करा दिया गया। बाद में इन्हीं सडक़ों को स्पेशल रिपेयर के नाम पर एक्स्ट्रा आइटम और वैरिवेशन का इस्टीमेट बनाकर पीडब्ल्यूडी मुख्यालय लखनऊ भेजा गया। जहां से स्वीकृति दे दी गई। उस दौरान विभागाध्यक्ष टी.राम थे। टेंडर नहीं कराये जाने से विभाग को कम्पेटिव रेट नहीं मिला वहीं सरकार को आर्थिक क्षति भी हुई। इस पर राजन मित्तल के खिलाफ विजिलेंस जांच बैठाई गई थी, लेकिन इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। पिछले साल जब वाराणसी में पुल गिरा था तब राजन मित्तल राज्य सेतु निगम के एमडी थे। हादसे में 20 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद राजन मित्तल को निर्माण निगम का एमडी बना दिया गया।

जो जहां का पात्र होगा वहीं जाएगा : अशोक पांडेय

भाजपा प्रवक्ता अशोक पांडेय का कहना है कि यह मामला निश्चित रूप से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजरों में नहीं आया होगा। यह सम्भव नहीं है कि उनकी जानकारी में ऐसा हो रहा है। मामला उनके संज्ञान में आते ही कार्रवाई होगी। जिसका स्थान जेल में होगा वह जेल में ही रहेगा। केंद्र और प्रदेश सरकार का भ्रष्टïाचार पर जीरो टॉलरेंस है।

सरकार कहती कुछ और करती कुछ और है: सुनील साजन

सपा के एमएलसी सुनील साजन का कहना है कि केंद्र सरकार हो या योगी सरकार यह कहती कुछ और करती कुछ है। सिर्फ एक विभाग में ऐसा नहीं हो रहा है। कई ऐसे विभाग हैं जहां सरकार ने बड़े पदों पर भ्रष्टï लोगों को बैठा रखा है। स्वास्थ्य विभाग में कई कम्पनियां ब्लैक लिस्ट हैं, इसके बाद भी उन्हें काम दिया गया है।

न मिलते हैं, न फोन  उठाते हैं एमडी
इस मामले में एमडी राजन मित्तल से बात करने की लगातार कोशिश की गई तो उनका फोन नहीं उठा। वहीं एमडी मुलाकात के लिए लंबी तारीख देते हैं ताकि खबर का पक्ष न मिल सके।

लखनऊ और कानपुर के 28 ठिकानों पर आयकर के छापे

  • राजधानी के छप्पन भोग में हो रही जांच-पड़ताल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के लखनऊ और कानपुर के 28 ठिकानों पर इनकम टैक्स की टीम ने आज एक साथ छापेमारी की। लखनऊ के छप्पन भोग में बड़ी कार्रवाई की जा रही है। मौके पर भारी संख्या में फोर्स के साथ अधिकारियों की टीम मौजूद है। छापेमारी से हडक़ंप मच गया है।
लखनऊ में छप्पन भोग पर बड़ी छापेमारी की गई है। इसके संचालक से अधिकारियों की टीम पूछताछ कर रही है। इसके अलावा अधिकारियों ने दस्तावेजों को खंगाला। सूत्रों के मुताबिक टैक्स चोरी की आशंका पर यह कार्रवाई की गई है। इस दौरान कैंट पुलिस और आरआरएफ टीम भी मौजूद रही। इस दौरान किसी को घुसने की इजाजत नहीं है। सूचना पर कुछ व्यापारी नेता मौके पर पहुंचे लेकिन सभी को उल्टे पांव लौटना पड़ा। यह कार्रवाई पान मसाला व्यापारियों समेत कई अन्य कारोबारियों के खिलाफ हो रही है। कानपुर में भी छापेमारी की जा रही है।

नौ आईएएस अफसरों का तबादला, प्रीति शुक्ला बनीं सचिव माध्यमिक शिक्षा

  • यशवंत राव बनाए गए कमिश्नर मुरादाबाद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार के निर्देश पर शासन स्तर से नौ आईएएस अधिकारियों का तबादला किया गया है। शासन की तरफ से जारी सूची के अनुसार यशवंत राव कमिश्नर मुरादाबाद बनाए गए हैं। प्रीति शुक्ला सचिव माध्यमिक शिक्षा बनाई गई हैं जबकि अनीता भटनागर प्रमुख सचिव खाद्य सुरक्षा, जयंत नार्लीकर सचिव आयुष, सी इंदुमति निदेशक महिला कल्याण, महेंद्र कुमार सचिव पंचायतीराज, अनुराग श्रीवास्तव प्रमुख सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम विकास और राजेंद्र तिवारी को अपर मुख्य सचिव उच्च माध्यमिक शिक्षा के रूप में महत्वपूर्ण तैनाती दी गई है। इसमें शासन के निर्देशानुसार प्रशांत त्रिवेदी से आयुष विभाग हटाया गया है लेकिन वह प्रमुख सचिव स्वास्थ्य बने रहेंगे।

 

Loading...
Pin It