गोकशी पर मुख्य सचिव ने डीएम-एसपी को चेताया

  • कहा, हर हाल में रुकनी चाहिए गोकशी
  • लाउडस्पीकर के मामले में कोर्ट के आदेश का पालन कराने के निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बुलंदशहर में गोकशी को लेकर हुई हिंसा और सीएम योगी आदित्यनाथ की नाराजगी के बाद प्रदेश के आला अफसरों को गोकशी व लाउडस्पीकर के मामलों में कार्रवाई की याद आई। सीएम ने मंगलवार की रात हुई बैठक में अफसरों से इस बात को लेकर खासी नाराजगी जाहिर की थी कि गोकशी क्यों नहीं रुक रही है। सीएम ने अफसरों से यह भी कहा कि आप लोग लाउडस्पीकर के मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का भी पालन नहीं करवा पा रहे हैं।
सीएम के रुख को देखते हुए मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने बुधवार की शाम जिलों के डीएम-एसपी व अन्य विभाग के अफसरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। उन्होंने गोकशी की घटनाओं को रोकने, पकड़े जाने पर सख्त कार्रवाई करने और अवैध बूचडख़ानों को पूरी तरह से बंद कराने के निर्देश दिए। लाउड स्पीकर को लेकर सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का सख्ती से पालन कराने को कहा है। इसके अलावा शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अफसरों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए। इस दौरान डीजीपी ओपी सिंह, प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार और डीजी इंटेलिजेंस भवेश कुमार भी मौजूद रहे। इस दौरान आला अफसरों ने जिलों के डीएम व एसपी से गोकशी को रोकने के लिए की जा रही कार्रवाई का ब्यौरा मांगा।

जान के खतरे से जुड़े मामले को गंभीरता से लें अधिकारी

मुख्य सचिव ने लखनऊ में हुए भाजयुमो नेता प्रत्यूषमणि त्रिपाठी की हत्या का संदर्भ देते हुए जिलों के अफसरों से कहा कि जान के खतरे व सुरक्षा को लेकर आने वाले मामलों को गंभीरता से सुनें। अगर किसी की शिकायत सुरक्षा को लेकर सही है तो उसे तत्काल सुरक्षा मुहैया करवाई जाए। 11 दिसंबर को तीन राज्यों के चुनावों के आने वाले परिणामों को लेकर भी जिलों को अलर्ट रहने को कहा गया है।

 

Pin It