अब यूपी में भाजपा की हवा बनाएंगे पीएम मोदी, विकास कार्यों के मेगा शो की तैयारी

  • कई परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास कर सकते हैं पीएम
  • राममंदिर के बहाने धु्रवीकरण की भी सियासत को किया जाएगा तेज
  • पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद होगा प्रदेश में पीएम का दौरा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद पीएम मोदी अब उत्तर प्रदेश में भाजपा की हवा बनाएंगे। उनका यूपी दौरा तेज हो जाएगा। पीएम मोदी जनवरी तक कम से कम तीन से चार बार प्रदेश की यात्रा पर आ सकते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलग-अलग परियोजनाओं के शिलान्यास व उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री से सुविधानुसार समय देने का आग्रह किया है। पीएम के इस दौरे के दौरान राम मंदिर के नाम पर धु्रवीकरण के अलावा विकास का मेगा शो पेश करने की तैयारी की गई है।
लोकसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा ने अभी से अपनी कमर कसनी शुरू कर दी है। भाजपा को ब्रांड मोदी का सहारा है। लिहाजा उत्तर प्रदेश में भी पीएम मोदी के ताबड़तोड़ दौरे की योजना बनाई गई है। पीएम मोदी प्रदेश में अधिक से अधिक समय दें इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने पीएम से सूबे में इस माह और अगले वर्ष जनवरी के बीच कई जनसभाएं करने का समय मांगा है। इस दौरान हजारों करोड़ की योजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण करने के लिए भी उन्हें आमंत्रित किया गया है। दरअसल, राम मंदिर के बहाने धु्रवीकरण की सियासत के बीच योगी सरकार विकास के मेगा शो को पेश करने की भी तैयारी कर रही है। इस माह वेस्ट यूपी, बुंदेलखंड से लेकर पूर्वांचल तक से जुड़े हजारों करोड़ों के कई प्रोजेक्ट के शिलान्यास और लोकार्पण होने हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ की मंशा है कि यह सभी शिलान्यास और लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों हो। साथ ही इन मौकों पर पीएम जनसभाओं को भी सम्बोधित करें ताकि एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में मोदी लहर बन सके। गौरतलब है कि पीएम मोदी काशी से सांसद हैं।

इन प्रोजेक्ट्स का होने हैं शिलान्यास, लोकार्पण

500 करोड़ से ज्यादा की लागत से बन रहा डिफेंस कॉरिडोर केंद्र सरकार की मदद से जमीन पर उतारा जाना है। इससे सेंट्रल यूपी बुंदेलखंड वेस्ट समेत कई शहरों को लाभ पहुंचेगा। योगी की मंशा है कि इस प्रोजेक्ट का शुभारंभ पीएम मोदी के हाथों हो।
5503 करोड़ से ज्यादा के नोएडा-ग्रेटर नोएडा रेल परियोजना का सिविल और ट्रैक का काम पूरा हो चुका है। इस परियोजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री से कराना चाहते हैं।
नोएडा के जेवर में बन रहे एयरपोर्ट से वेस्ट यूपी सहित प्रदेश के दूसरे हिस्से कार्गो सुविधा से जुड़ेंगे। योगी सरकार इसे माल ढुलाई और यात्री सुविधा के बड़े केंद्र के रूप में विकसित करने की तैयारी में है। सीएम ने पीएम मोदी से आग्रह किया है कि वे इस एयरपोर्ट के बनने की शुरुआत करें।
कानपुर के पनकी में 660 मेगावाट क्षमता की ताप विद्युत परियोजना पर काम शुरू होना है। सीएम के साथ पीएम से भी इस प्रोजेक्ट के शिलान्यास का समय मांगा गया है। जनवरी में वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस समारोह मनाया जाना है। इसका उद्घाटन पीएम करेंगे जबकि समापन राष्ट्रपति को करना है।

सीएम योगी आदित्यनाथ की मंशा है कि सभी शिलान्यास और लोकार्पण पीएम मोदी के हाथों हो साथ ही इन मौकों पर पीएम जनसभाओं को भी संबोधित करें ताकि एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में मोदी लहर बन सके।

विपक्ष को जवाब देने की जुगत में पार्टी
उन परियोजनाओं के कार्य में तेजी लाई जा रही है जिन्हें पीएम मोदी के हाथों शिलान्यास और लोकार्पण कराना है। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे और पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की प्रक्रिया अगले महीने तक तेज हो जाएगी इससे चुनावी मंच पर योजनाओं का जिक्र कर बड़े प्रोजेक्ट न शुरू करने के विपक्ष के आरोपों का जवाब देना योगी सरकार के लिए आसान हो जाएगा।

राममंदिर मुद्दा भी रहेगा गर्म
साधु-संतों की नाराजगी, विहिप की धर्मसभा, शिवसेना की घेरेबंदी और संघ के तेवरों को देखकर भाजपा ने अयोध्या में राममंदिर मुद्दे को गर्म बनाए रखने की तैयारी कर ली है। भाजपा के शीर्ष नेता लगातार राम मंदिर को लेकर बयान दे रहे हैं। खुद सीएम योगी आदित्यनाथ कई बार मंदिर की बात उठा चुके हैं और इसके निर्माण में कांग्रेस के बाधक बनने पर तंज भी कस चुके हैं।

 

Pin It