योगी-ओवैसी में जुबानी जंग तेज

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में वोटिंग से पहले सियासी दलों के बीच जुबानी जंग चरम पर है। एक तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और भाजपा के फायर ब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ ने असदुद्दीन औवैसी पर कड़ा प्रहार किया तो ओवैसी भी पलटवार करते हुए उन पर जमकर बरसे। यही नहीं इस बयानबाजी में ओवैसी के छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी भी शामिल हो गए हैं।

निजाम की तरह भागना होगा ओवैसी को

  • किसी को अराजकता फैलाने की अनुमति नहीं देगी भाजपा सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। तेलंगाना में धुआंधार प्रचार कर रहे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जमकर जुबानी तीर चला रहे हैं। तेलंगाना के तंदूर में एक चुनावी रैली में योगी ने ओवैसी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अगर यहां भाजपा सत्ता में आती है तो ओवैसी को ठीक उसी तरह तेलंगाना से भागना होगा, जैसे निजामों को हैदराबाद से बाहर भागना पड़ा था।
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हैदराबाद का निजाम पाकिस्तान समर्थक था। वह भारतीय गणराज्य में हैदराबाद रियासत को शामिल नहीं करना चाहता था। तब तत्कालीन गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की सख्ती के कारण निजाम को हैदराबाद छोड़ कर भागना पड़ा। भाजपा सबको सुरक्षा देगी लेकिन किसी को अराजकता फैलाने की अनुमति नहीं देगी। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण की राह में कांग्रेस पर रोड़ा अटकाने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि राहुल गांधी नीत पार्टी और तेलंगाना राष्टï्र समिति (टीआरएस) ‘मुस्लिम तुष्टिकरणÓ कर रही है। संगारेड्डी में भाजपा की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने कहा कि भगवान राम के जन्मस्थान पर भव्य मंदिर निर्माण कराने के मार्ग पर कोई रोड़ा अटका रहा है तो वह कांग्रेस है। उन्होंने कहा कि हमें कांग्रेस पार्टी की मंशा को समझने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने कांग्रेस और टीआरएस पर मुस्लिम तुष्टीकरण करने और धार्मिक आधार पर उनके लिए योजनाएं बनाने का आरोप लगाया। आदित्यनाथ ने कहा कि नीतियां बनाने के दौरान भाजपा जाति, नस्ल और धर्म के बीच भेदभाव नहीं करती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन में बीते साढ़े चार साल में भाजपा नीत सरकार ने ‘सबका साथ, सबका विकासÓ मिशन के साथ कार्यक्रम चलाए हैं।

मुल्क मेरे बाप का, नहीं भगा सकता कोइ

  • यूपी के सीएम खड़ी कर रहे हैं नफरत की दीवार
  • इतिहास की जानकारी नहीं योगी को, निजाम कहीं नहीं गए

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एआईएमआईएम सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि कोई भी उन्हें देश छोडऩे को मजबूर नहीं कर सकता है। मेरे अब्बा ने जब जन्नत से निकलकर दुनिया में पहला कदम रखा तो हिंदुस्तान में ही रखा। ये हिंदुस्तान मेरे बाप का मुल्क है कोई भी मुझे यहां से नहीं निकाल सकता है।
असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यूपी के सीएम कह रहे हैं कि अगर तेलंगाना में भाजपा की सरकार बनेगी तो ओवैसी को भगा देंगे, जिस तरह निजाम को भगाया था। मैं आपसे पूछ रहा हूं, ये भगाने की बात आप कब से कर रहे हो? ये मुल्क आपका है, मेरा नहीं है? ओवैसी ने कहा कि आप तारीख तो जानते नहीं, इतिहास में जीरो हैं आप। अगर पढऩा नहीं आता तो पढऩे वाले से पूछिए अगर पढ़ते तो मालूम होता कि निजाम हैदराबाद छोड़कर नहीं गए। उनको राजप्रमुख बनाया गया था। चीन से जंग हुई तो यही निजाम ने अपना सोना बेच दिया था। ओवैसी ने कहा कि इनकी विधानसभा में हर साल इन्सेफेलाइटिस से 150 बच्चे मरते हैं। आपके गोरखपुर के दवाखाने में ऑक्सीजन नहीं है, आपको वहां की फिक्र नहीं। यहां आकर नफरत की दीवार खड़ी करने की बातें कर रहे हैं।

मुख्य चुनाव आयुक्त पद से हटते ही बोले ओपी रावत, नोटबंदी का कालेधन पर नहीं पड़ा असर

  • राजनीति से जुड़े लोगों और उनके मददगारों के पास कालेधन की कमी नहीं
  • चुनाव में कालेधन के इस्तेमाल पर कोई रोक नहीं लगी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। मुख्य चुनाव आयुक्त के पद से हटते ही ओपी रावत ने कालेधन पर पीएम नरेंद्र मोदी के दावे को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी का कालेधन पर कोई असर नहीं हुआ है। ऐसा लगता है कि राजनीति से जुड़े लोगों और उनकी आर्थिक मदद करने वालों को पैसे की कोई कमी नहीं हुई है। जिस तरह से पैसे खर्च किए जाते हैं, वे मोटे तौर पर काला धन होता है। जहां तक चुनाव में कालेधन के इस्तेमाल का सवाल है, उसपर कोई रोक नहीं लगी है। ओपी रावत शनिवार को ही मुख्य चुनाव आयुक्त के पद से रिटायर हुए हैं।
उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद यह सोचा गया था कि चुनाव के दौरान पैसे का दुरुपयोग कम हो जाएगा, लेकिन आंकड़ों के आधार पर ये बात गलत साबित हुई है। पिछले चुनावों के मुकाबले इस बार ज्यादा कालेधन की जब्ती हुई। ओपी रावत को इस साल जनवरी में देश का मुख्य चुनाव आयुक्त बनाया गया था। इनके कार्यकाल में अनेक विधानसभा चुनाव और उप-चुनाव सफलता पूर्वक आयोजित किए गए। ओपी रावत की जगह अगले मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में सुनील अरोड़ा को नियुक्त किया गया है। उन्होंने रविवार को पदभार संभाला।

बेसिक स्कूलों में शिक्षा स्तर की होगी ग्रेडिंग, प्रस्ताव पास

  • कैबिनेट ने 16 प्रस्तावों पर लगाई मुहर, पुलिसकर्मियों का बढ़ेगा भत्ता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में अब बेसिक स्कूलों में शिक्षा स्तर की ग्रेडिंग कराई जाएगी। यह प्रस्ताव नि:शुल्क बाल शिक्षा अधिनियम 2011 में संशोधन के साथ पास हुआ। इसके साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बढ़े हुए मानदेय के अतिरिक्त 5 सौ रुपये अतिरिक्त दिए जाएंगे। 6 से 14 साल के बालक या बालिका को आउट आफ स्कूल माना जायेगा जो 45 दिन तक लगातार अनुपस्थित रहा। शिक्षा की गुणवत्ता के लिए प्राप्त शिक्षा परिणाम पर विद्यालय की ग्रेडिंग की जाएगी, इससे अध्यापकों की जवाबदेही तय होगी।
पुलिसकर्मियों के वर्दी और वाहन भत्ते में बढ़़ोतरी के प्रस्ताव को भी मंजूरी मिली है। पुलिसबल में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को वर्दी नवीनीकरण के लिए मिलने वाले 1500 रुपए को बढ़ाकर 2000 रुपए किया गया है। इसके साथ ही पुलिस के समस्त हैड कांस्टेबल, कांस्टेबल एवं समस्त समतुल्य पद को वर्दी नवीनीकरण के लिए मिलने वाले 2250 रुपए को बढ़ाकर 3000 रुपए किया गया है। सीवर सेफ्टी टैक में सफाई के दौरान मृत्यु होने पर सरकार की तरफ से 10 लाख का मुआवजा दिया जाएगा। कई अन्य प्रस्ताव भी पास हुए।

 

Pin It