प्यार के लिए कुर्बान कर दिया उल्लू

नई दिल्ली। कहते है कि प्यार में इंसान कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाता है। अपने प्यार को पाने के लिए वो किसी की जान भी ले सकता है। हाल ही में राजधानी दिल्ली में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहां एक शख्स ने अंधविश्वास में आकर ऐसा काम किया जिससे उसको फायदा तो बाद में मिलता लेकिन घाटा ऐसा हुआ जिसकी भड़पाई कभी हो ही नहीं सकती है।
मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक, शख्स ने एक स्त्री को पाने की खातिर इस तंत्र-साधना की मदद ली और फिर इसने एक उल्लू की बलि चढ़ा दी। उल्लू की बलि चढ़ाकर इस शख्स की आकांक्षा तो पूरी नहीं हुई लेकिन इसके पिता की मौत जरूर हो गई और अब यह शख्स भी कानून के शिकंजे में है। जानकारी के मुताबिक, सुल्तानपुरी के सी-ब्लॉक में रहने वाले 40 साल के कन्हैया को एक महिला से एकतरफा प्यार हो गया था। एकतरफा मुहब्बत में पागल कन्हैया किसी भी सूरत में इस महिला को हासिल करना चाहता था जबकि पेशे से ड्राइवर कन्हैया पहले से शादीशुदा है और उसके तीन बच्चे भी हैं। बावजूद वह उक्त महिला को पाना चाहता था। इसके लिए उसने तांत्रिक क्रियाएं भी की। कन्हैया को उसके जीजा कन्नू ने बताया कि अगर वो दिवाली की रात किसी उल्लू की बलि चढ़ा दे तो किसी भी तरह वो स्त्री उसके वश में हो जाएगी। पराई नारी को पाने की चाहत में कन्हैया ने तंत्र-मंत्र के रास्ते पर जाने का मन बना लिया। दिवाली की घनी अंधेरी रात में कन्नू ने ही कन्हैया को एक उल्लू लाकर दिया।
रात के अंधेरे में कन्हैया ने चुपचाप उल्लू की बलि दी और देर रात तक तंत्र साधना की लेकिन अगले ही दिन कन्हैया के पिता की मौत हो गई। पिता के मौत के बाद भी कन्हैया हर रात मरे हुए उल्लू के पंखों के साथ घंटों मंत्र के ढोंग में जुटा रहता। उसकी इन हरकतों पर उसके पड़ोस में रहने वाले लोगों को शक हो गया और उन्होंने तत्काल पुलिस को उसके संदिग्ध व्यवहार की जानकारी दी। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कन्हैया को धर दबोचा। तलाशी के दौरान कन्हैया के घर में रखे कूलर के अंदर से मरे हुए उल्लू को बरामद किया गया। अब पुलिस इस मामले में कन्हैया पर संरक्षित पक्षी को मारने के जुर्म में कार्रवाई की तैयारी कर रही है।

Pin It