कांग्रेस ने लोकतंत्र का अनादर किया: केशव

  • उप मुख्यमंत्री ने लोकतंत्र सेनानियों के जनहित संबंधी कार्यों को सराहा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को विश्वेश्वरैया सभागार में आयोजित लोकतन्त्र सेनानी आभार सम्मेलन में कांग्रेस पर करारा हमला बोला। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने लोकतंत्र का अनादर किया और सरदार वल्लभ भाई पटेल को केवल प्रधानमंत्री के पद से ही नहीं बल्कि उस सम्मान से भी वंचित किया जिसके वह हकदार थे। कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, चन्द्रशेखर, वीपी सिंह, चौधरी चरण सिंह और राजनारायण को भी वह सम्मान नहीं दिया जो उन्हें मिलना ही चाहिए था। ऐसी घड़ी में लोकतंत्र सेनानियों ने लोकतंत्र को परिवारतंत्र में परिवर्तित होने से बचाया।
एमएलसी यशवन्त सिंह ने कहा कि जयप्रकाश आंदोलन का प्रमुख लक्ष्य था ईमान का शासन। आज मोदी-योगी के जीवन और शासन में भ्रष्टाचार की कोई जगह नहीं हैं। यह एक बड़ी उपलब्धि है। लोकतन्त्र सेनानी कल्याण समिति के अध्यक्ष रामसेवक यादव ने ज्ञापन देकर लोकतंत्र सेनानियों व पाल्यों के लिए दो प्रतिशत आरक्षण को बहाल करने की मांग की। इतना ही नहीं केशव ने लोकतंत्र सेनानियों के नाम पर पीडब्ल्यूडी की सडक़ों के नामकरण का ऐलान किया और कहा कि आपको जो कुछ भी मिल रहा है वह सरकार का कर्तव्य है। स्वागत समिति के अध्यक्ष व भाजपा के सह संपर्क प्रमुख नवीन श्रीवास्तव ने अतिथियों का स्वागत किया। जबकि संयोजक धीरेंद्र श्रीवास्तव ने रूपरेखा रखी। इस कार्यक्रम में 36 लोकतन्त्र सेनानियों को अंगवस्त्र ओढ़ा कर सम्मानित किया गया।

समाज के सहयोग से चलता है संघ का सेवा कार्य

सरस्वती कुंज निरालानगर के माधव सभागार में सेवा संगम के उद्घाटन के मौके पर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पहले सेवा की आड़ में धर्मांतरण होता था। आज समाज को शिक्षित करने और उन्हें स्वावलंबी बनाने का काम संघ के कार्यकर्ता कर रहे हैं। यह भी कहा कि संघ का सेवा कार्य सरकार की कृपा पर नहीं, बल्कि समाज के सहयोग से चलता है। कोई भी प्राकृतिक आपदा आने पर स्वयंसेवक सबसे पहले पहुंचते हैं। मैं सरकार का हिस्सा हूं लेकिन दावे के साथ कह सकता हूं कि आपदा में स्वयंसेवकों के पहुंचने के एक घंटे बाद ही सरकारी तंत्र पहुंचता है। इस कार्यक्रम के दूसरे सत्र में कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन भी मौजूद थे।

 

Pin It