राहुल गांधी का नाम बतौर पीएम प्रत्याशी नहीं घोषित करेगी कांग्रेस: चिदंबरम

  • गठबंधन का नेतृत्व करना चाहती है कांग्रेस, क्षेत्रीय पार्टियों को एकजुट करने की हो रही है कोशिश
  • देश में वैकल्पिक और प्रोग्रेसिव सरकार बनाना चाहती है कांग्रेस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। भले ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद को पीएम प्रत्याशी के तौर पर पेश कर रहे हो लेकिन पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता पी. चिदंबरम ने एक चैनल से बातचीत के दौरान साफ तौर पर कहा कि 2019 के आम चुनावों में कांग्रेस पार्टी राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर घोषित नहीं करेगी
उन्होंने कहा कि राहुल ही नहीं कांग्रेस किसी अन्य व्यक्ति की दावेदारी की घोषणा भी नहीं करेगी। कांग्रेस लंबे समय से क्षेत्रीय पार्टियों को एकजुट करने की कोशिश में जुटी है ताकि 2019 में एक मजबूत विपक्ष के रूप में भाजपा का सामना किया जा सके। कांग्रेस इस गठबंधन का नेतृत्व करना चाहती है लेकिन इसे लेकर क्षेत्रीय पार्टियों की राय अलग-अलग है। चिदंबरम ने कहा कि हमने कभी नहीं कहा कि हम राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं। जब कुछ कांग्रेस नेताओं ने इस तरह की बात की थी तब ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने इस पर दखल दिया था और उनसे ऐसी बातें नहीं करने को कहा था। हम भाजपा को सत्ता से बाहर करना चाहते हैं। हम एक वैकल्पिक सरकार बनाना चाहते हैं जो प्रोग्रेसिव हो, व्यक्ति की आजादी का सम्मान करे, टैक्स टेररिज्म को बढ़ावा न दे, महिलाओं-बच्चों को सुरक्षा दे और किसानों की स्थिति में सुधार करे।

क्या कहा था राहुल ने
इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कई मौकों पर कह चुके हैं कि यदि सहयोगी पार्टियां चाहेंगी तो वह प्रधानमंत्री बनने के लिए तैयार हैं। हालांकि उन्होंने जोर दिया था कि फिलहाल उनका फोकस भाजपा को सत्ता से बेदखल करने पर है।

गठबंधन के साथी करेंगे फैसला

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि हम एक गठबंधन तैयार करना चाहते हैं। प्रधानमंत्री पद का फैसला चुनाव के बाद गठबंधन के सभी साथी मिलकर करेंगे। चिदंबरम ने यह स्वीकार किया कि पिछले दो दशकों में राष्ट्रीय पार्टियों के वोट बैंक में सेंधमारी कर क्षेत्रीय पार्टियों की स्थिति मजबूत हुई है। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों का संयुक्त वोट शेयर भी 50 फीसदी से कम है। उन्होंने आरोप लगाया कि क्षेत्रीय पार्टियों को कांग्रेस से हाथ मिलाने से रोकने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार भय का माहौल पैदा करने की कोशिश कर रही है।

मंत्री जी उड़ा रहे यातायात नियमों की धज्जियां

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
जब मंत्री ही यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाने लगें तो आम आदमी को कैसे नियमों का पाठ पढ़ाया जा सकता है। आज एक मंत्री ने 1090 चौराहे से मुख्यमंत्री आवास तक गलत दिशा में गाड़ी चलाई। यह स्थिति तब है जब खुद सरकार और पुलिसकर्मी लोगों को सडक़ सुरक्षा के लिए यातायात नियमों का पाठ पढ़ाती है। नियमों का उल्लंघन करने पर आम आदमी का चालान काटा जाता है।

’दशहरे पर ही मार देती अपने बेटे को पर बच गया’

  • सभापति रमेश यादव के बेटे की हत्या का मामला
  • मां मीरा ने ही की थी गला घोंटकर हत्या, पुलिस ने किया पर्दाफाश
  • एसएसपी के आदेश पर हुआ पोस्टमार्टम, सच्चाई आई सामने, दुपट्टा बरामद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मैं तो दशहरा पर ही उसे मार देती लेकिन वह बच गया। वह मुझे बार-बार बेइज्जत करता था। मेरा बेटा जरूर था लेकिन हर समय वह मुझ पर गंदे आरोप लगाता रहता था, जिससे मैं परेशान हो गई थी, इसलिए मैंने उसकी हत्या कर दी। यह बयान यूपी विधान परिषद के सभापति रमेश यादव की पत्नी और अभिजीत की मां मीरा ने दिया है। उन्होंने स्वीकार किया कि अभिजीत की हत्या गला घोंटकर की गई। फिलहाल पुलिस ने मां को गिरफ्तार कर पूछताछ करने के बाद घटना का खुलासा किया है। हत्या में इस्तेमाल दुपट्टा भी बरामद कर लिया गया है।
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि सभापति रमेश यादव के बेटे अभिजीत यादव की हत्या गला दबाकर की गई थी। इस बात का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ है। इसलिए घटना की जांच के बाद मां को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में मीरा ने कबूला है कि वह बेटे के अभद्र व्यवहार से परेशान थी। अभिजीत से शनिवार रात भी उनकी कहासुनी हुई थी। वहीं दूसरी तरफ पुलिस का यह भी कहना है कि उन्हें रविवार को अभिजीत की मौत की सूचना मिली थी। पुलिस मौके पर पहुंची तो परिजनों ने बताया कि अभिजीत ने शनिवार रात सीने में दर्द की शिकायत की थी। वे डेडबॉडी का पोस्टमार्टम नहीं कराने की जिद पर अड़े थे। अभिजीत के अंतिम संस्कार तक की तैयारियां भी पूरी कर ली गई थीं, लेकिन एसएसपी के आदेश पर सही समय पर पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

पांच डॉक्टरों के पैनल ने किया पोस्टमार्टम

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि अभिजीत की डेडबॉडी का पोस्टमार्टम पांच डॉक्टरों के पैनल ने किया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अभिजीत के सिर पर चोट के तीन निशान और गला घोटने से मौत की बात सामने आई है। फोरेंसिक टीम को अभिजीत के कमरे में सबूत मिटाने के सुराग भी मिले थे इसलिए मां को गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

 

Pin It