अनुसूचित समाज के बिना सफल नहीं राष्ट्र का निर्माण: योगी

  • कहा, भाजपा ने अनुसूचित समाज के लोगों को दिया सबसे अधिक मौका

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बिना अनुसूचित समाज के राष्ट्र निर्माण का काम सफल नहीं हो सकता। राष्ट्र निर्माण में इस समाज के लोगों के योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। भाजपा ही एक मात्र ऐसा दल है, जिसमें सबसे ज्यादा सांसद और विधायक इस समाज से हैं। सीएम ने अनुसूचित समाज को राम से जोड़ते हुए कहा कि इन्होंने राम को अपने जीवन में उतारा, इसीलिए ये लोग अपने नाम के बाद राम लिखते हैं।
सीएम योगी रविवार को आगरा में भाजपा अनुसूचित मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने डॉ. आंबेडकर और संत रविदास के साथ ही बाल्मीकि के राष्ट्र निर्माण में योगदान को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि ये सभी महापुरुष देश को एकता के सूत्र में बांधने की कडिय़ां हैं। रामायण की रचना बाल्मीकि व महाभारत की वेद व्यास ने की। वे भी इसी समाज से थे। वहीं संत रविदास ने मन चंगा तो कठौती में गंगा का मूल मंत्र दिया। यह आज तक प्रासंगिक है। डॉ.आंबेडकर ने संविधान की रचना की। उन्होंने यह बताया कि देश कैसे चलेगा। डॉ.आंबेडकर को भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी ने दिलाया। सीएम ने कहा कि अनुसूचित समाज को लूटने का काम पूर्व की सरकारों ने किया। भाजपा ही इस समाज की सच्ची हितैषी है। योगी ने ने अनुसूचित समाज के लिए किए जा रहे कार्यों के साथ केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकारों की उपलब्धियां गिनाईं।

भाजपा की सरकार ने बनवाए ‘पंच तीर्थस्थल’

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डॉ. आंबेडकर से जुड़े पांच स्थलों को ‘पंच तीर्थ स्थल’ घोषित कर उन्हें बनवाया। उन्होंने विपक्षियों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि विपक्षी दल केवल गाल बजाते रहते हैं। इतना ही नहीं अनुसूचित समाज को लूटने का काम पूर्व की सरकारों ने किया है। इसलिए पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता जनता तक इस बात को पहुंचाएं।

Pin It