पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी पुलिस और खुफिया एजेंसियों में हडक़ंप

  • असम से दिल्ली पुलिस कमिश्नर को भेजा गया मेल
  • समय, तारीख और महीने का भी किया गया है जिक्र
  • मामले की जांच में जुटी पुलिस पहले भी मिल चुकी है धमकी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जान से मारने की धमकी दी गई है। धमकी भरा यह मेल दिल्ली पुलिस कमिश्नर को भेजा गया है। एक लाइन के इस ई-मेल में पीएम मोदी को न केवल जान से मार देने की बात लिखी गई है, बल्कि इसका समय तय करते हुए 2019 के किसी महीने का ई-मेल में जिक्र भी है। यह धमकी भरा ई-मेल देश के पूर्वोत्तर राज्य असम के किसी जिले से भेजा गया है। इससे खुफिया एजेंसियों और पुलिस महकमे में हडक़ंप मच गया है।
पीएम बनने से पहले से ही नरेंद्र मोदी आतंकियों के निशाने पर रहे हैं। पुलिस का कहना है कि धमकी भरा मेल असम के किसी जिले से भेजा गया है। इसकी तफ्तीश की जा रही है। वहीं खुफिया एजेंसियां भी अलर्ट हो गई हैं। हालांकि लगातार मिल रही धमकियों के चलते 2014 में मोदी के पीएम बनते ही उनकी सुरक्षा व्यवस्था को काफी मजबूत कर दिया गया है। पीएम मोदी के सुरक्षा घेरा को लगभग अभेद बना दिया गया है। पीएम मोदी जहां भी जाते हैं, वहां जमीन से लेकर आसमान तक चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाती है। मोदी की सुरक्षा मनमोहन सिंह की तुलना में तकरीबन दोगुनी है। उनकी सुरक्षा में विभिन्न घेरों के तहत एक हजार से ज्यादा कमांडो तैनात रहते हैं। देश के किसी भी हिस्से में राजनीतिक या अन्य दौरों और कार्यक्रमों के दौरान एसपीजी के जवान तैनात रहते हैं। इससे पहले मोदी के काफिले में चलने वाली कारों की एसपीजी अच्छी तरह जांच करती है। पीएम मोदी के काफिले में एक जैमर से लैस गाड़ी रहती है, जिसमें दो एंटिना फिट रहते हैं। ये सडक़ के दोनों तरफ 100 मीटर की दूरी तक रखे विस्फोटक को निष्क्रिय कर सकते हैं।

पहले भी हत्या की रची गई थी साजिश

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में पांच संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद नक्सलियों की ओर से पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचे जाने का खुलासा हुआ था। नक्सलियों के संपर्क में रहने के आरोप में दिल्ली से गिरफ्तार किए गए रोना जैकब विल्सन के पास से मिली चिट्ठी से इस साजिश का खुलासा हुआ था।

राफेल सौदा: सियासी आंच तेज करने में जुटे राहुल, एचएएल कर्मियों से करेंगे मुलाकात

  • कंपनी ने कर्मचारियों को बैठक से दूरी बनाने के दिए निर्देश
  • कीमत को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष कर रहे मोदी सरकार पर हमले

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। राफेल विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के कर्मचारियों के साथ मुलाकात करेंगे। सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी एचएएल के कर्मचारियों से साढ़े तीन बजे के बाद मुलाकात और संवाद करेंगे। इस दौरान वे राफेल डील को लेकर भी कर्मचारियों से बातचीत करेंगे। वहीं कंपनी ने इस बैठक से कर्मचारियों को दूरी बनाने का निर्देश दिया है।
कांग्रेस का आरोप है कि प्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस की सरकार से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने का जो सौदा किया है उसका मूल्य संप्रग सरकार के समय किए गए सौदे की तुलना में अधिक है। इसकी वजह से सरकारी खजाने को हजारों करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। वहीं पुलिस ने पार्टी को स्क्वायर सर्कल में लगभग 90 मिनट की बैठक करने की इजाजत दी है। जहां भारतीय वायुसेना के लिए एचएएल द्वारा निर्मित लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एलसीए) तेजस को लोगों के लिए प्रदर्शित किया जाएगा। कांग्रेस के राज्य इकाई के प्रवक्ता रवि गौड़ा ने कहा कि राहुल वहां पहुंचकर यह भी जानना चाहते हैं कि एचएएल कर्मचारी राफेल डील को लेकर क्या सोचते हैं। वहीं कंपनी ने रोजगार नियमों और सेवा शर्तों के अनुसार कर्मचारियों को इस बैठक से दूर रहने की सलाह दी है लेकिन संस्थान से रिटायर्ड कुछ लोग राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे और राफेल सौदे समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा करेंगे। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता एस जयपाल रेड्डी ने कहा था कि एचएएल सबसे बड़ा शिकार इसलिए बन गया है क्योंकि एचएएल के 10 हजार कर्मचारियों की नौकरी जाने वाली है। राफेल करार मिलने से 10 हजार नई नौकरी पैदा होने वाली थी, लेकिन अब मौजूदा नौकरियां भी खत्म हो रही हैं। हालांकि रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण पहले कह चुकी है कि फ्रांसीसी कंपनी दसॉ एविएशन और रिलायंस के बीच गठजोड़ की जानकारी सरकार को नहीं थी क्योंकि दो देशों के समझौते में निजी फर्मों का उल्लेख नहीं होता है।

चार आईपीएस के तबादले, फैजाबाद के एसएसपी बने जोगेन्द्र कुमार

  • अखिलेश कुमार चौरसिया को पुलिस महानिदेशक मुख्यालय से किया गया सम्बद्ध

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में अधिकारियों के तबादलों का दौर जारी है। इसी क्रम में योगी सरकार ने आज चार आईपीएस अफसरों के तबादले किए।
सत्येंद्र कुमार सिंह, पुलिस उप महानिरीक्षक, सेनानायक, 27वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर को पुलिस उप महानिरीक्षक, एटीसी, सीतापुर बनाया गया है। जय प्रकाश सिंह, पुलिस अधीक्षक/ अपर पुलिस अधीक्षक, पीएसी मुख्यालय, लखनऊ को सेनानायक, 27वीं वाहिनी पीएसी, सीतापुर और जोगेन्द्र कुमार, पुलिस अधीक्षक, एटीएस, उप्र, लखनऊ को वरिष्ठï पुलिस अधीक्षक फैजाबाद बनाया गया है। अखिलेश कुमार चौरसिया, वरिष्ठï पुलिस अधीक्षक, फैजाबाद को मुख्यालय पुलिस महानिदेशक, लखनऊ से सम्बद्ध किया गया है।

Pin It