लोहिया के विचारों को आगे बढ़ाने की जरूरत: राम नाईक

  • पुण्यतिथि पर याद कर दी श्रद्धांजलि

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राज्यपाल राम नाईक ने शुक्रवार को डॉ. राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के अवसर पर राम मनोहर लोहिया पार्क गोमती नगर जाकर उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया तथा उनके चित्र पर माल्यार्पण करके अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
राज्यपाल ने कहा कि डॉ. लोहिया एक प्रसिद्ध समाजवादी विचारक, लेखक, भाषाकार, अर्थशास्त्री एवं मौलिक चिन्तन करने वाले दार्शनिक थे। वह कॉल माक्र्स के विचारों को अधूरा मानते थे, सोवियत संघ रूस के बिखराव के बाद उनकी बात सही साबित हुई। इतना ही नहीं डॉ. लोहिया भगवान राम को आदर्श मानते थे। चित्रकूट में रामायण मेला का शुभारंभ करने की कल्पना उन्हीं के द्वारा की गयी थी। भारतीय संस्कृति के प्रति उनका लगाव था। समाज में काम करते हुए सबको जोडऩा, विचारों को व्यवहार में उतारना तथा वैचारिक शुद्धता उनकी विशेषता थी। इसलिए हमें लोहिया जी के विचारों को आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। गौरतलब है कि कल 4पीएम में राज्यपाल का जो वक्तव्य छपा था, वह उन्होंने नहीं कहा था। रिपोर्टर की गलतीवश वह छप गया था।

Pin It