यूपी और बिहार में संपूर्ण क्रांति के साथ होगा भाजपा का संपूर्ण सफाया: अखिलेश यादव

  • यशवंत सिन्हा व शत्रुघ्न सिन्हा ने सपा अध्यक्ष से की मुलाकात
  • बीजेपी को सबक सिखाने के लिए तैयार की ठोस रणनीति

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के लिए अपने बयानों से मुश्किल पैदा करने वाले उसी की पार्टी के वरिष्ठ नेता शत्रुघ्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा ने सपा का समर्थन करने का निर्णय लिया है। बीजेपी को सबक सिखाने के मकसद से शत्रुघ्न सिन्हा और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने गुरुवार को लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी कार्यालय पहुंचकर अखिलेश यादव से मुलाकात की। इन दोनों नेताओं ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाये। एक तरफ जहां शत्रुघ्न सिन्हा ने भाजपा सरकार को जुमलेबाजों की सरकार बताते हुए पार्टी का साथ न देने की बात कही तो वहीं दूसरी तरफ यशवंत सिन्हा ने पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह की तुलना दुर्योधन और दुशासन से की। इतना ही नहीं दोनों नेताओं ने अखिलेश यादव को आज के दौर का बेहतर और सुलझा हुआ नेता बताया और यूपी व बिहार से बीजेपी के संपूर्ण सफाये के लिए अभियान चलाने का निर्णय लिया है।
जय प्रकाश नारायण जयंती समारोह में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ शत्रुघ्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा ने भी मंच साझा किया। इस दौरान अखिलेश ने गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हुए हमले के पीछे बीजेपी को ही कठघरे में खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि इस बार संपूर्णक्रांति के साथ यूपी और बिहार में बीजेपी का संपूर्ण सफाया हो जाएगा। यहां के लोगों को गुजरात में मारापीटा जा रहा है और बड़े लोग चुप हैं, इसका मतलब सब कुछ उन्हीं के इशारे पर किया जा रहा है। बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने अखिलेश की तारीफ करते हुए कहा कि किसी की फिल्म चली हो या न चली हो लेकिन अखिलेश का जादू चल गया है। मैं जयप्रकाश जी से प्रभावित होकर राजनीति में आया और विपक्ष में आना चाहता तो सत्ता में जा सकता था। राजनीति में आने के बाद मैं यशवंत सिन्हा से प्रभावित हुआ कि अगर आप ठान लें तो असंभव को भी संभव कर सकते हैं। लोग बोलते हैं कि आप बीजेपी में रहकर विरोध करते हैं तो मैं कहता हूं अगर सच कहना बगावत है तो मैं बागी हूं, खोखले जुमलेबाजों को लेकर चलेंगे तो न कोई साथ चलेगा और न कोई बोलेगा।

देश में तानाशाही जैसे हालात

यशवंत सिन्हा ने कहा कि अटल जी के समय में लोकशाही थी लेकिन आज देश में तानाशाही है। नोटबंदी ने गरीबों को परेशान किया क्योंकि एक आदमी ने तानाशाही में कह दिया नोटबंदी और हो गया। यशवंत सिन्हा ने पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर तंज कसते हुए कहा कि आज फिर दुर्योधन और दुशासन से लडऩे का वक्त आ गया है। देश में इमरजेंसी जैसे हालात हैं। कैबिनेट का हाल बुरा है, पहले पीएम केवल मुखिया होता था लेकिन आज देश के गृहमंत्री को नहीं पता कि जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लग रहा है, रक्षामंत्री को नहीं पता की राफेल का सौदा हो रहा है, मनोहर पर्रिकर ने इसे माना। वित्त मंत्री को नहीं पता कि नोटबंदी होने वाली है, आज विदेश मंत्री को एक बार भी पीएम ने नहीं कहा कि साथ चलो, आज वो बेचारी बैठकर ट्वीट करती हैं, लोग उनको ट्विटर मंत्री कहते हैं।

 

Pin It