साइकिल रैली समापन समारोह में मुलायम ने अखिलेश के साथ साझा किया मंच

  • शिवपाल के साथ सेक्युलर मोर्चा में जाने की अटकलों पर लगा विराम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने अपने भाई और समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के कर्ताधर्ता शिवपाल सिंह यादव की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की तरफ से पूरे प्रदेश में शुरू की गयी साइकिल रैली के लिए आयोजित कार्यक्रम में मुलायम सिंह यादव अपने बेटे अखिलेश के साथ मंच साझा करते दिखे। इससे शिवपाल के सेक्युलर मोर्चा में मुलायम के शामिल होने की अटकलों पर विराम लग गया है। अब सबकी नजर शिवपाल सिंह यादव पर है।
देश के बड़े राजनैतिक परिवारों में शुमार यादव परिवार और समाजवादी पार्टी में दो साल से सत्ता का संघर्ष चल रहा है। यादव परिवार में सियासी वर्चस्व को लेकर बिखराव हो चुका है। मुलायम सिंह के छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव ने पिछले महीने एसपी से नाता तोडक़र अपने सेक्युलर मोर्चे का गठन कर अपने इरादे जता दिये थे। हालांकि इस बीच में मुलायम सिंह यादव की तरफ से यादव परिवार की बैठक भी बुलायी गयी थी। लेकिन कोई सकारात्मक परिणाम सामने नहीं आया। सेक्युलर मोर्चे का गठन करते वक्त शिवपाल का कहना था कि मुलायम सिंह को इस मोर्चे का अध्यक्ष बनाया जायेगा और उन्हीं के नेतृत्व में पार्टी काम करेगी। शिवपाल ने यह मोर्चा सपा से उपेक्षित नेताओं को इकट्ठा करके बनाया है। पिछले दिनों शिवपाल ने पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं से भी मुलाकात की थी और उनका आशीर्वाद लिया था। इतना ही नहीं शिवपाल दावा कर रहे थे कि मुलायम की सहमति से मोर्चे का गठन किया गया है, लेकिन मुलायम इस मुद्देे पर हमेशा ही चुप रहे। फिलहाल सपा ने केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ राज्य में साइकिल रैली शुरू की थी और रविवार को उसका दिल्ली में समापन कार्यक्रम था। जिसमें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ ही मुलायम सिंह यादव भी मंच पर थे। उनके इस कार्यक्रम में जाने के कई मायने निकाले जा रहे हैं।

Pin It