सपना आया और बन गया करोड़पति

4PM News Network

नई दिल्ली। हर व्यक्ति सपने जरूर देखता है। कोई जागकर सपनों को पूरा करने के लिए देखता है। कोई सोते हुए सपने देखता है। इंसान दिन में खुली आंखों से यानी सोचते हुए अपने काम और कारोबार को आगे बढ़ते के लिए सोचता ही रहता है। लेकिन रात में आए सपने के बारे में बहुत कम ही लोग ही गौर करते हैं। ऐसा ही कुछ इस व्यक्ति के साथ हुआ, जिसको रात में आए सपने ने उसकी दुनिया ही बदल दी।
अमेरिका के रहने वाले माइक लिंडले को बिजनेस को लेकर सपना आया। जिसके बाद माइक लिंडले ने अपने सपने को हकीकत कर दिखाया और 2000 करोड़ का कारोबार खड़ा कर दिया। यह कोई फिल्मी कहानी नहीं बल्कि असलियत है। दरअसल, सपने में आए एक आइडिया ने वाले माइक लिंडले को 2100 करोड़ का मालिक बना दिया। माइक को हर रात में सोने में दिक्कत होती थी, क्योंकि उन्हें उनका तकिया पसंद नहीं आता था। तकिया आरामदायक नहीं था, इसलिए उन्हें नींद नहीं आती थी। एक रात को अचानक से माइक की नींद खुली और उन्होंने घर के हर कोने में मायपिलो लिख दिया। यही पहला स्टेप था माइक के बिजनेस की शुरुआत की। आज पूरे अमेरिका में माइक पिलो किंग के नाम से मशहूर हो गए हैं। लिंडले ने मायपिलो शुरुआत अपने होमटाउन चस्का से की।
एक समय था जब लिंडले अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए दो-दो नौकरी करते थे। एक दिन उन्हें लगा कि वो पढ़ाई करके अपना समय बर्बाद कर रहे हैं। सब कुछ ठीक चल रहा था कि एक दिन मैनेजर से लड़ाई हो गई और मैनेजर ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया। इसके बाद ही उन्होंने खुद का कारोबार शुरू करने के बारे में सोचा। नौकरी छोडक़र माइक ने बिजनेस में हाथ आजमाया।
बाजार में मंदी होने की वजह से सबकुछ बर्बाद हो गया। सब कुछ बर्बाद होने के बाद माइक को अचानक से होश आया और उन्होंने नए सिरे से शुरुआत की। 2011 में एक स्थानीय समाचार पत्र में माइक की कम्पनी के बारे में छपा। इसके बाद उन्होंने स्थानीय स्तर पर तकिया बनाकर बेचना शुरू कर दिया। इसके बाद उन्होंने 10.5 लाख उधार लेकर अपना स्टोर खोला और क्रिसमस पर 80 तकिए बेचे। माइक ने 16 जनवरी 2009 को एक पार्टी में आखिरी बार जमकर मस्ती की और शराब एवं कोकीन का सेवन किया, इसके बाद हमेशा के लिए छोड़ दिया। यह सब छोडकऱ उन्होंने अपना पूरा ध्यान कारोबार पर लगाया। पहले 5 कर्मचारियों से अपनी कंपनी की शुरुआत की। वर्तमान में माइक की कम्पनी में 500 कर्मचारी काम करते हैं। माइक की कम्पनी मायपिलो हर साल लगभग 3 करोड़ तकिए बेचती है।

Pin It