केंद्र निर्धारण में गड़बड़ी हुई तो नपेंगे डीआईओएस: दिनेश शर्मा

  • डिप्टी सीएम ने संवेदनशील विद्यालयों को चिन्हित करने के दिए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार के उप मुख्यमंत्री एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग के मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने मंगलवार को बोर्ड परीक्षाओं को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए केंद्र निर्धारण से पहले अभियान चलाकर संदिग्ध और संवेदनशील विद्यालय चिन्हित किए जाएं। इसके बाद स्कूलों का निरीक्षण किया जाए। तब परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया जाए।
उप मुख्यमंत्री ने माध्यमिक शिक्षा विभाग के कार्यों और यूपी बोर्ड परीक्षा की तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यह पता लगाया जाए कि किन-किन विद्यालयों में पठन-पाठन का कार्य सुचारु रूप से नहीं हो रहा है। किन विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति कम है। ऐसे विद्यालयों की सूची जिला प्रशासन, निदेशालय एवं शासन को भी उपलब्ध कराई जाए।
डॉ. शर्मा ने कहा कि परीक्षा केंद्र निर्धारण में किसी भी प्रकार की अनियमितता पर जिला विद्यालय निरीक्षक को प्रथम दोषी माना जाएगा। केंद्र निर्धारण विसंगति की शिकायत के लिए एक अतिरिक्त ई-मेल आईडी भी बनाई जाए। इतना ही नहीं उत्तर पुस्तिकाओं में डी कोडिंग प्रक्रिया अपनाने के भी निर्देश दिए गए हैं।

 

Pin It