4पीएम ने छापी खबर तो मुख्य सचिव ने लिया संज्ञान कहा बयान दर्ज होने तक अस्पताल में रहेंगी लड़कियां

  • अनूप चंद्र पांडेय की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान लिया गया निर्णय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। इसी महीने 5 सितम्बर को 4पीएम समाचार पत्र ने‘ दारोगा जी के सामने खड़ी हुई नई परेशानी, बरामद हुई युवतियों को रखें कहां’ शीर्षक के नाम से खबर प्रकाशित किया था। इस खबर के माध्यम से बताया गया था कि गायब हुई लड़कियां जब बरामद होती हैं, तो उन्हें ऐसे जिलों में सुरक्षित जगह पर रखना चुनौती होता है, जहां महिला संरक्षण गृह नहीं हैं। ऐसे में संबंधित क्षेत्र के दारोगाओं के सामने नई परेशानी खड़ी हो रही है।
मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने 4पीएम की खबर को संज्ञान में लेते हुए गुरुवार को अपनी अध्यक्षता में बैठक कर इस समस्या का समाधान निकाला। उन्होंने कहा कि यह समस्या अत्यंत गंभीर है, इसका हल निकाला जाना जरूरी है। जब तक 164 का बयान दर्ज नहीं होता है तब तक लड़कियां अस्पताल में रहेंगी। इस दौरान वहां पुलिसकर्मी ड्यूटी देंगे। अस्पताल एक कमरा देंगे। बैठक में प्रमुख सचिव अरविंद कुमार, डीजीपी ओपी सिंह सहित कई अधिकारी भी शामिल रहे।

Pin It