साहब! पेंशन न मिली तो भुखमरी का शिकार हो जाएगा परिवार

  • दो साल पहले हुई पति की मौत पर आज तक नहीं मिली पेंशन
  • महिला ने आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए अफसरों से लगाई गुहार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर निगम में मृत कर्मियों के आश्रितों को परिवारिक पेंशन के लिए भटकना पड़ रहा है। आलम यह है कि मृतक आश्रितों को कई-कई सालों तक भटकने के बाद भी पेंशन नहीं मिल पा रही है। ऐसा ही एक और मामला नगर निगम में सामने आया है।
नगर निगम जोन-तीन के अभियंत्रण विभाग में गैंगमैन के पद पर कार्यरत ओम प्रकाश की मौत 21 अप्रैल 2016 में हुई थी। मौत के बाद ओम प्रकाश के परिवार को परिवारिक पेंशन का लाभ नहीं मिला। मामले को लेकर मृत ओमप्रकाश की पत्नी बिटाना ने अपर नगर आयुक्त अनिल मिश्र को पत्र लिख कर इंसाफ की गुहार लगाई है। बिटाना ने अपने पत्र में कहा है कि पारिवारिक पेंशन के लिए वह कई बार नगर निगम अफसरों को पत्र लिख चुकी है। पिछले दो साल से लगातार नगर निगम के चक्कर लगा रही है लेकिन उसको कोई भी भुगतान, बीमा भविष्य निधि, पेंशन, ग्रेच्युटी कुछ भी नहीं मिला। महिला ने अफसरों को यह भी अवगत कराया है कि वह ज्यादा पढ़ी-लिखी नहीं है। पति की मौत के कारण परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो गई है। महिला का कहना है कि उसकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। उसका कच्चा मकान बारिश में गिर गया। यदि पेंशन नहीं मिली तो उसका परिवार भुखमरी का शिकार हो सकता है।

मामला संज्ञान में आया है। जांच कराकर मृतक आश्रित को पेंशन व अन्य देयकों का लाभ दिया जाएगा। प्रत्येक माह की 20 तरीख को नगर निगम पेंशन अदालत का आयोजन करता है। ऐसे लोग पेंशन अदालत में अपने मामले रख सकते हैं। मामले का तत्काल निस्तारण किया जाएगा।
-अनिल मिश्र, अपर नगर आयुक्त

बाग और गोमती नगर रेलवे स्टेशन को एलडीए की हरी झंडी

  • एलडीए उपाध्यक्ष प्रभुएन सिंह की अध्यक्षता में पास हुआ नक्शा

लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क)एलडीए ने गोमती नगर रेलवे स्टेशन और चारबाग रेलवे स्टेशन का नक्शा पास कर दिया है। रेलवे की ओर से इन दोनों स्टेशनों पर विश्वस्तरीय शापिंग मॉल-होटल बनाया जाएगा।
एलडीए उपाध्यक्ष प्रभुएन सिंह की अध्यक्षता में बुधवार को हुई प्राधिकरण की तकनीकी कमेटी ने इनका नक्शा पास कर दिया। रेलवे गोमतीनगर में स्टेशन का विस्तार कर रहा है। यहां शापिंग मॉल, होटल समेत अन्य सौंदर्यीकरण के काम भी होंगे। वहीं चारबाग के पीछे आनन्दनगर की तरफ भी दूसरा प्रवेश व निकास द्वार बनाया जाएगा। एस्क्लेटर व लिफ्ट भी लगेंगे। यहां भी रेलवे मॉल व चार होटल बन रहे है।

 

Pin It