आतंकियों ने बनायी योजना, महिला वेश में किया जाए पीएम मोदी पर हमला

  • खुफिया एजेंसियों में मचा हडक़ंप निगरानी तेज, वाराणसी से भी मिला था ऐसा ही इनपुट
  • इंदौर में बोहरा समाज के कार्यक्रम में शामिल होंगे पीएम
  • नक्सलियों के पास से भी मोदी की हत्या की साजिश के मिल चुके हैं कागजात

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करने की एक और सूचना के बाद देश की खुफिया एजेंसियों में हडक़ंप मच गया है। एजेंसियों को सूचना मिली है कि प्रधानमंत्री की इंदौर यात्रा के दौरान महिलाओं के वेश में आतंकी पंडाल में घुसकर उनके ऊपर हमला कर सकते हैं। बीते वर्ष भी एजेंसियों को यह इनपुट मिला था कि अपने निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में प्रधानमंत्री के आने पर आतंकी महिला के वेश में घुसकर उन पर हमले की योजना बना रहे हैं। कुछ महिलाओं के वाराणसी में आने की सूचना के बाद तब पीएम का वाराणसी दौरा कुछ दिनों के लिए टाल दिया गया था। इस बार फिर इसी तरह का इनपुट मिलने के बाद पीएम की सुरक्षा का नए सिरे से निरीक्षण किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है पिछले दिनों पुलिस ने दावा किया था कि कुछ नक्सलियों के पास से ऐसे कागज मिले हैं जिन पर पीएम की हत्या की साजिश की बात लिखी है। खुफिया एजेंसियां इस बात को लेकर भी चिंतित हैं कि लोकसभा चुनाव सिर पर है और प्रधानमंत्री को पूरे देश में रैलियां करनी हैं। पीएम मोदी लंबे समय से आतंकियों के निशाने पर हैं और इसके मद्देनजर उनकी सुरक्षा में नए-नए बदलाव किए जाते रहे हैं। ताजा मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मध्य प्रदेश के इंदौर यात्रा से ठीक पहले का है। जैसे ही यह खबर मिली कि आतंकी इंदौर में महिलाओं के वेश में पंडाल में घुस सकते हैं वैसे ही सुरक्षा एजेंसियों व स्थानीय पुलिस ने बैठक कर पंडाल में आने वाले हर व्यक्ति की निगरानी शुरू कर दी है। पीएम मोदी कल इंदौर में बोहरा समाज के कार्यक्रम में शामिल होंगे। यहां पर बनी सैफी नगर मस्जिद को एसपीजी ने अपने घेरे में ले लिया है। एसपीजी के अफसरों ने कहा है कि बगैर उचित पहचान पत्र के किसी को पीएम के आस-पास नहीं जाने दिया जाएगा। खुफिया एजेंसियों की नींद इस बात को लेकर भी उड़ी है कि सभा स्थल पर आने वाले लोगों में साठ प्रतिशत महिलाएं हैं। इनपुट के बाद महिला अधिकारियों को भी बोहरा समुदाय की महिलाओं के वेश में पंडाल में तैनात कर दिया गया है। दूसरी ओर आईबी के अफसर भी इंदौर पहुंच गए हैं और पीएम मोदी की सुरक्षा के हर पहलू की बारीकी से जांच कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश में भी प्रधानमंत्री मोदी की संभावित यात्राओं को लेकर सुरक्षा व्यवस्था को नए सिरे से चिन्हित करने पर विचार किया जा रहा है जिससे आतंकियों के मंसूबों को कामयाब न होने दिया जाए।

कुछ लोगों को अंधेरा अच्छा लगता है इसलिए उजाले को देते हैं दोष: मोदी

राफेल डील, बैंक फ्रॉड व तेल के बढ़ते दामों को लेकर हो रही आलोचनाओं के बीच भाजपा ने मिशन 2019 की तैयारी शुरू कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी कमान संभाल ली है। पीएम मोदी ने आज मेरा बूथ, सबसे मजबूत कार्यक्रम के तहत नमो ऐप के जरिए भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। पीएम ने कहा कि विपक्ष लोगों को गुमराह कर रहा है। पीएम ने कहा कि असमाजिक तत्वों को अच्छे कामों से परेशानी हो रही है। अच्छे कार्यों की वजह से ही सरकार की आलोचना की जा रही है। कृष्ण के जमाने से लेकर आज तक कुछ लोग ऐसे रहे हैं, जो अच्छे कामों से डरते हैं। उनको अंधेरा इतना अच्छा लगता है कि उजाले को दोष देने लग जाते हैं। सबका साथ सबका विकास हमारे लिए नारा कभी नहीं था, यह हमारा प्रेरणा मंत्र है। बाकी दलों ने वोट बैंक की राजनीति की है।

तेल ने फिर दिखाए तेवर, दाम बढ़े

  • केंद्र सरकार ने बुलाई बैठक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। एक दिन की राहत के बाद आज फिर पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ गए हैं। पेट्रोल के दाम में 13 पैसे और डीजल के दाम में 11 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। कीमत में बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 81 रुपये हो गई है। वहीं डीजल 73.08 रुपये लीटर के भाव पर मिल रहा है। वहीं पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम और डॉलर के मुकाबले रुपये की घटती कीमत को लेकर पीएम मोदी ने शनिवार को बैठक बुलाई है।

…और मंत्री ने तोड़ दी ‘कसम’, जिसे कराना था गिरफ्तार उसी को किया सम्मानित

  • महिला प्रताडऩा के आरोपी वरिष्ठï क्षेत्रीय प्रबंधक वैभव कुमार को मंत्री ने किया था सम्मानित
  • जब मंत्री ही आरोपी को करेंगे सम्मानित तब पुलिस कैसे करेगी गिरफ्तार

गणेश जी वर्मा
लखनऊ। प्रसिद्ध साहित्यकार फणीश्वरनाथ रेणु की कहानी मारे गए गुलफाम या तीसरी कसम के नायक ने भले ही अपनी कसमें नहीं तोड़ी हों लेकिन कसमों के मामले में सियासत की बात निराली है। अपने मंत्री जी ने एक वर्ष पहले पद की जो शपथ खाई थी उसे ही तोड़ दिया।
हम बात कर रहे हैं सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा की। मंत्री ने एक ऐसे आरोपी को सम्मानित किया, जिसे उनको गिरफ्तार कराना चाहिए था।
अब जब मंत्री ही कसम खाने के बाद ऐसा करेंगे तो पुलिस आरोपी को कैसे गिरफ्तार करेगी और कैसे उसके खिलाफ निष्पक्ष कार्रवाई करेगी। गेहूं खरीद को लेकर कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा सात सितम्बर को निबंधन कार्यालय में अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने वरिष्ठ क्षेत्रीय प्रबंधक वैभव कुमार को मंडल में प्रथम आने पर सम्मानित किया। प्रबंधक पर कृष्णानगर थाने में इसी कार्यालय में कार्य करने वाली महिला ने मुकदमा दर्ज कराया है। जिसमें महिलाओं से अभद्र व्यवहार सहित कई आरोप लगाए गए हैं। पांच सितम्बर को मुकदमा दर्ज हुआ। छह सितम्बर को मीडिया ने इस खबर को कवर भी किया था। इसके बाद यदि मंत्री जी यह कहते हंै कि इसकी जानकारी नहीं है तो यह कदम जानबूझकर उठाया गया होगा। महिला कर्मचारी का कहना है कि लखनऊ से पहले वैभव कुमार पर लखीमपुर में भी एक महिला ने आरोप लगाया था लेकिन ऊंची पहुंच के कारण वैभव कुमार पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई थी। महिला का आरोप है कि शराब के नशे में वह कार्यालय में आते हैं। दहशत के कारण कोई कर्मचारी उनके खिलाफ नहीं बोलता है। उनके इसी तरह आचरण के कारण उनकी पत्नी ने भी उनको छोड़ दिया है और मुकदमा चल रहा है।

पीए ने कहा, अभी नहीं हो पाएगी बात
इस संदर्भ में जब मंत्री से बात करने की कोशिश की गई तो उनके पीए रामनरेश ने फोन रिसीव किया। उन्होंने बताया कि मंत्री जी पीलीभीत में हैं। उनसे बात करना अभी मुश्किल है। जैसे ही समय मिलता है, मैं बात करा दूंगा।

यह है आरोप
वरिष्ठï क्षेत्रीय प्रबंधक, पीसीएफ लखनऊ मंडल वैभव कुमार के कार्यालय में काम करने वाली एक महिला ने आरोप लगाया था है कि वैभव कुमार अभद्र व्यवहार करते हैं और उनकी नीयत ठीक नहीं है। यह महिला डर कर मेडिकल अवकाश पर चली गई है। इस मामले में डेढ़ माह बाद पुलिस ने वैभव के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। वैभव राजपत्रित अधिकारी नहीं है बावजूद इसके पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

 

Pin It