जिला सहकारी बैंकों की हालत सुधारने की कवायद तेज

  • सरकार यूपीपीसीबी के डिपाजिट से उपलब्ध कराएगी धन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के खस्ताहाल 16 जिला सहकारी बैंकों (डीसीबी) को पटरी पर लाने के लिए राज्य सरकार पैसा देगी। यह जानकारी सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने बुधवार को जिला सहकारी बैंकों की समीक्षा के बाद दी। उन्होंने बताया कि सरकार यूपीपीसीबी के डिपॉजिट से चार से आठ करोड़ रुपये तक देगी।
सहकारिता मंत्री के मुताबिक इन 16 बैंकों में से आठ की स्थिति ज्यादा खराब है। ये बैंक जमाकर्ताओं की डिमांड का पांच फीसदी धन ही दे पा रहे हैं। सरकार ने बाकी आठ बैंकों को उस स्थिति में पहुंचा दिया है कि वे डिमांड के अनुरूप भुगतान कर पा रहे हैं। इसके लिए बैंकों से इस्टिमेट मांगा गया है। फैजाबाद, गाजीपुर, वाराणसी, इलाहाबाद, हरदोई, आजमगढ़, बलिया और फतेहपुर के जिला सहकारी बैंक की हालत में सुधार हुआ है। जबकि सीतापुर, सिद्धार्थनगर, बहराइच, सुलतानपुर, बस्ती, गोरखपुर, जौनपुर और देवरिया के जिला सहकारी बैंक भुगतान में सक्षम नहीं हैं। मुकुट बिहारी वर्मा ने बताया कि सभी साधन सहकारी समितियों को फिर डीसीबी से जोड़ा जाएगा। समितियों को आरकेयूवाई के तहत पांच-पांच लाख रुपये भी मिलेंगे। इस बैठक में प्रमुख सचिव सहकारिता एमवीएस रामी रेड्डी, अपर आयुक्त (बैंकिंग) आन्द्रे वामसी, सभी मंडल उपायुक्त, सभी बैंकों के अधिकारी मौजूद थे।

 

Loading...
Pin It