जनता की सेहत से खिलवाड़ जारी, मूकदर्शक बने जिम्मेदार

  • संक्रामक रोग बांट रहे कटे-फटे फल बेच रहे दुकानदार
  • सरकार के निर्देशों के बाद भी नहीं हो रही कार्रवाई
  • अफसरों की मिलीभगत से शहर में जोर-शोर से चल रहा है धंधा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी लखनऊ में जनता की सेहत से खिलवाड़ जारी है। यहां के तमाम स्थानों पर ढेले वाले कटे-फटे फल बेच कर लोगों को संक्रामक रोग बांट रहे हैं। सरकार की ओर से ऐसे दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश के बावजूद नगर निगम और खाद्य सुरक्षा विभाग हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। सूत्रों के मुताबिक अफसरों की मिलीभगत से शहर में धड़ल्ले से कटे-फटे फल बेचे जा रहे है।
ढेलों पर खुले में बिक रहे कटे फल लोगों की सेहत को बिगाड़ रहे हैं। इन फलों में न केवल मक्खियां भिनभिनाती है बल्कि सडक़ पर उडऩे वाली धूल भी इन पर जमा होती है। यही फल दुकानदार ग्राहकों को बेचते हैं। चिकित्सकों के मुताबिक इस तरह के फल लोगों की सेहत को खराब कर देते हैं और वे कई प्रकार के रोगों की चपेट में आ जाते हैं। सरकार ने ऐसे फल विक्रेताओं पर शिकंजा कसने के निर्देश संबंधित विभागों को जारी किए हैं बावजूद आज तक इन दुकानदारों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसके कारण लोग इन फलों का सेवन कर बीमारी को न्यौता दे रहे हैं। यह सारा धंधा अफसरों की मिलीभगत से चल रहा है। तमाम शिकायतों के बावजूद जिम्मेदार इन दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई करने से कतरा रहे हैं। हालांकि खानापूर्ति के लिए पिछले दिनों गन्ना के जूस बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ नगर निगम ने कार्रवाई की गई थी, लेकिन यह अभियान भी बस एक दिन ही चला। ऐसे में कटे-फटे फलों के बेचने का धंधा जारी है।

गंदगी फैलाने वाले लोगों से स्पॉट फाइन वसूला जाएगा जबकि कटे-फटे फल बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
-पंकज भूषण, कार्यवाहक नगर स्वास्थ्य अधिकारी

Pin It