इस देश में बिल्लियां हुईं बैन सरकार ने बताया ये कारण

नई दिल्ली। न्यूजीलैंड के एक गांव में दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां जल्द ही बिल्लियों पर बैन लगने वाला हैं। दरअसल, बिल्लियां पक्षियों को खा जाती हैं इसलिए सरकार ने फैसला किया है कि अब न्यूजीलैंड में लोग बिल्लियां नहीं पालेंगे। लगातार पक्षियों की कम होती तादाद के कारण बिल्लियों पर बैन लग रहा है। बिल्लियों के कारण पक्षियों की वो प्रजाति हैं जो कही और नहीं पाई जाती हैं, लुप्त होने की कगार पर हैं।
न्यूजीलैंड के ओमायु गांव में जिनके पास फिलहाल बिल्ली है, वो उनके पास ही रहेंगी। मगर उन बिल्लियों के मरने के बाद वह दोबारा बिल्ली नहीं पाल सकेंगे। अभी तक गांव में करीब 35 लोगों ने 7 से 8 बिल्लियां पाली हैं। आपको बता दें, न्यूजीलैंड में काफी तादाद में पक्षी हैं। यहां 4 हजार से ज्यादा नुकसान न पहुंचाने वाले क्रिएचर्स हैं। नेशनल आइकन भी किवी है।
सरकार ने एक रिपोर्ट पेश किया था जिसमें बताया गया था कि हर साल ढाई करोड़ पक्षियों की मौत होती है। जिसके बाद सरकार ने बिल्लियों को दूर करने का जिम्मा उठाया था। यहां बिल्लियों को सीरियल किलर माना जाता है, 2013 में एक मूवमेंट शुरू किया गया था। जिसका नाम कैट टू गो दिया गया। न्यूजीलैंड का पूरा फोकस नेचर और पक्षियों को बचाना है इसलिए उन्होंने ये कदम उठाने का फैसला लिया है। हालात आउट ऑफ कंट्रोल होने की वजह से ये फैसला लिया गया।

Pin It