अटल जी के अंतिम दर्शन को उमड़ा जन सैलाब

  • भाजपा मुख्यालय में रखा गया पूर्व प्रधानमंत्री का पार्थिव शरीर
  • स्मृति स्थल पर किया जाएगा अंतिम संस्कार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन ‘अटल’ व्यक्तित्व वाले वाजपेयी हमेशा देशवासियों की यादों में अमर रहेंगे। लंबे समय से मौत से जंग लड़ रहे वाजपेयी का गुरुवार शाम 5.05 बजे दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। उनकी मौत की खबर से न सिर्फ हिंदुस्तान बल्कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में शोक की लहर है। अटल को अंतिम विदाई देने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा है, हर कोई इस महान आत्मा के अंतिम दर्शन करना चाहता है। इस बीच अटल का पार्थिव शरीर भाजपा दफ्तर पहुंच गया है, जहां हजारों की संख्या में लोग उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे हैं। इसके बाद आज शाम को स्मृति स्थल पर अंतिम संस्कार किया जाएगा।
अटल बिहारी वाजपेयी के निवास के बाहर लोगों का जमावड़ा रहा। यहां करीब साढ़े आठ बजे तक उनके अंतिम दर्शन किए गए, जिसके बाद भाजपा मुख्यालय में अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर रखा गया। भाजपा दफ्तर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राज्यपाल राम नाईक, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत भाजपा के तमाम नेता मौजूद रहे। इस दौरान समर्थक अटल जी अमर रहें और वंदे मातरम के नारे लगाते रहे। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई नेताओं और सेनाध्यक्षों ने अटल जी के आवास पहुंचकर श्रद्घांजलि दी।

सार्क देशों के नेताओं ने दी श्रद्धांजलि
भारत के महानतम नेताओं में से एक अटल बिहारी वाजपेयी को सार्क देशों सहित दुनिया भर के नेताओं ने श्रद्धांजलि दी है। उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पाकिस्तान के कानून मंत्री सहित सार्क देशों के कई नेताओं के आने की उम्मीद है। भूटान के किंग जिग्मे खेसर नामग्येल वांगचुक दिल्ली पहुंच चुके हैं। इसके अलावा बांग्लादेश के विदेश मंत्री अबुल हसन महमूद अली, नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली और श्रीलंका के कार्यवाहक विदेश मंत्री लक्ष्मण किरिएला भी दिल्ली पहुंच गये हैं।

Pin It