प्रदेश में निर्बाध विद्युत आपूर्ति की कवायद तेज

  • ड्रॉप आउट फ्यूज सेट लगाने का काम शुरू

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार बिजली की आपूर्ति सुधारने में जुट गई है। अगले कुछ दिनों में अगर कोई फाल्ट 11केवी लाइन में आता है तो शट डाउन लेने की जरूरत नहीं होगी। एक हजार ट्रांसफार्मरों पर ड्राप आउट फ्यूज सेट लगाए जा रहे हैं। इसके लगते ही टेलीस्कोपिक रॉड द्वारा चलती हुई बिजली की लाइन पर संचालित किया जाएगा। इस नई तकनीक के प्रयोग से पब्लिक को निर्बाध आपूर्ति मिल सकेगी। इस पूरे प्रोजेक्ट पर बिजली महकमा 97.15 करोड़ रुपये खर्च करेगा।
मध्यांचल के प्रबंध निदेशक संजय गोयल ने बताया कि लेसा ने 12 डिवीजनों में 12 करोड़ से एबी केबल लगवाई गई है। इससे बिजली संकट जो तारों के कारण होता था, वह खत्म हो गया है। गोयल के मुताबिक लखनऊ को नो ट्रिपिंग जोन बनाने की दिशा में काफी काम हो चुके हैं। इसका असर अब दिखना भी शुरू हो गया है। इसकी बानगी हाल में बनाए गए हरिहरपुर, लौलाई, निगोंहा, आशियाना न्यू, जानकीपुरम सेक्टर एफ व रैथा रोड पर उपकेंद्रों का निर्माण है। इसके अलावा ट्रांस गोमती व सिस गोमती में ओवर लोड हो रहे 306 ट्रांसफार्मर की क्षमता सिर्फ तीस दिन में बढ़ाई गई है।

आरटीओ में कल से ऑनलाइन होंगे वाहन से जुड़े काम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। ड्राइविंग लाइसेंस की तरह ही 15 अगस्त से वाहन से संबंधित सभी कार्य ऑनलाइन हो जाएंगे।
आज ट्रांसपोर्टनगर स्थित आरटीओ कार्यालय में मैनुअल व्यवस्था का आखिरी दिन है। यानी इसके बाद वाहन संबंधित काम के लिए आने वाले आवेदक सिर्फ ऑनलाइन ही आवेदन कर सकेंगे। आवेदनकर्ता कॉमन सर्विस सेंटर, जनसेवा केंद्र, लोकवाणी एवं ई-सुविधा सेंटर से अपना आवेदन कर सकते हैं। वाहन से जुड़ी आठ सेवाएं 15 अगस्त से ऑनलाइन हो रही हैं। एआरटीओ (प्रशासन) राघवेंद्र सिंह ने बताया कि वाहन-4 साफ्टवेयर से जुड़े आवेदन आज ही की तारीख से मैनुअल स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

Pin It