विधानसभा अध्यक्ष कराना चाह रहे निष्पक्ष जांच तो पूर्व डीजीपी मामले को रफा-दफा कराने का बना रहे दबाव

दुकान में चोरी के मामले में विधानसभा अध्यक्ष और पूर्व डीजीपी आमने-सामने

  • जब डीजीपी थे तब तो बिकते ही थे, गुंडों के साथ खड़े भी होते थे क्या अब भी वही हैं हालात
  • पूर्व डीजीपी का करीबी है आरोपी इसलिए फन चौकी इंचार्ज राजेश कुमार सिंह बना रहे दबाव

गणेश जी वर्मा
लखनऊ। पूर्व डीजीपी एके जैन जब डीजीपी थे तब तो बिकते ही थे, वे गुंडों के साथ खड़े भी हो जाते थे, लेकिन अब रिटायर होने के बाद भू उनकी कार्यशैली में सुधार नहीं हुआ है। वह अपने करीबी को बचाने के लिए पुलिस पर बेजा दबाव डाल रहे हैं। ताजा मामला गोमतीनगर का है। जहां एक पीडि़त ने विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को पत्र लिखकर बताया है कि मुकदमा दर्ज हुए एक वर्ष से अधिक का समय बीतने के बाद भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। पीडि़त के मुताबिक उसे पता चला है कि पूर्व डीजीपी एके जैन आरोपियों के करीबी हैं जिसके कारण पूर्व डीजीपी पुलिस के ऊपर नाजायज दबाव बना रहे हैं। इसलिए उनकी गिरफ्तारी नहीं हो रही है और न ही सामान बरामद हो रहा है। पीडि़त ने मामले की शिकायत विधानसभा अध्यक्ष से की तो उन्होंने एसएसपी लखनऊ को पत्र भेजकर मामले की निष्पक्ष जांच करने के आदेश दिए हैं।

यह है मामला

बता दें कि फन माल में धीरेंद्र त्रिपाठी की मोबाइल की दुकान थी। धीरेंद्र 18 जून 2017 को अपनी दुकान बंद कर घर चले गए। अगले दिन सुबह दुकान पहुंचे तो उनको पता चला कि दुकान ही गायब है। दुकान में रखा नकदी सहित लगभग 20 लाख रुपये का सामान गायब था। धीरेंद्र इस मामले में फन मॉल के पास स्थित पुलिस चौकी पर रिपोर्ट दर्ज कराने गए तो वहां जबरन उनकी तहरीर बदलवा दी गई। पुलिस ने हल्की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर खेल कर दिया। इस मामले में फन मॉल की मैनेजर सरस्वती, मार्केटिंग मैनेजर विवेक व सिक्योरिटी मैनेजर मान सिंह के खिलाफ पीडि़त ने मुकदमा दर्ज कराया है। इस घटना के एक साल बाद भी पीडि़त को न्याय नहीं मिला, न ही आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई हुई और न ही सामान की बरामदगी हुई है।

विधान सभा अध्यक्ष ने एसएसपी को सौंपी जांच
विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने इस मामले में एसएसपी कलानिधि नैथानी को निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई करने को कहा है। यदि निष्पक्ष जांच हुई तो कई पुलिसकर्मियों पर भी गाज गिर सकती है।

इंडियाज इंस्ट्रूमेंट ऑफ ट्रांसफॉर्मेशन बन गया है आईआईटी: पीएम मोदी

  • प्रधानमंत्री ने आईआईटी बॉम्बे के 56वें दीक्षांत समारोह में की शिरकत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मुंबई के 56वें दीक्षांत समारोह में शिरकत की। इस दौरान उन्होंने छात्रों को संबोधित करते हुए आईआईटी की नई परिभाषा दी है। पीएम मोदी ने कहा कि देश और दुनिया आईआईटी को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के रूप में जानती है, लेकिन आज हमारे लिए इनकी परिभाषा थोड़ी बदल गई है। ये सिर्फ टेक्नोलॉजी की पढ़ाई से जुड़े स्थान भर नहीं रह गए हैं, बल्कि आईआईटी आज इंडियाज इंस्ट्रूमेंट ऑफ ट्रांसफोर्मेशन बन गए हैं। उन्होंने कहा कि पूरा देश आईआईटी छात्रों से प्रेरणा लेता है और विदेशों में भी हमारे छात्र कामयाब हैं। यह हम सबके लिए बहुत ही गर्व की बात है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि इस अवसर पर सबसे पहले मैं डिग्री पाने वाले देश-विदेश के विद्यार्थियों और उनके परिवारों को बधाई देता हूं, उनका अभिनंदन करता हूं। बीते 6 दशकों की निरंतर कोशिशों का ही परिणाम है कि आईआईटी बॉम्बे ने देश के चुनिंदा उत्कृष्ट संस्थानों में अपनी जगह बनाई है। मोदी ने स्टार्ट अप योजना का जिक्र करते हुए कहा कि स्टार्ट अप की जिस क्रांति की तरफ देश आगे बढ़ रहा है, उसका एक बहुत बड़ा माध्यम हमारे आईआईटी हैं। आज दुनिया आईआईटी को यूनीकॉर्न स्टार्ट अप्स की नर्सरी तक मान रही है। ये एक प्रकार से तकनीक के दर्पण हैं, जिसमें दुनिया को भविष्य नजर आता है।

स्वदेशी रक्षा उपकरणों से रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर होगा देश: योगी

  • सीएम ने डिफेंस कॉरिडोर समिट का किया उद्घाटन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। देश की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलीगढ़ के जीटी रोड स्थित होटल रॉयल रेजीडेंसी में डिफेंस कॉरिडोर इंडस्ट्रियल इन्वेस्टर्स समिट का शुभारंभ किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि देश तभी आगे बढ़ेगा, जब डिफेंस सेक्टर में आत्मनिर्भरता आएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया में जिन 25 सेक्टर को लिया है, उसमें डिफेंस भी शामिल है। आने वाले समय में स्टेट रेवोलुशन होने जा रहा है। जिसका लाभ जनता को मिलेगा।
अलीगढ़ में आयोजित डिफेंस कॉरिडोर समिट तीन चरणों में होगी। इसमें देशभर के 500 उद्यमियों से तीन देशों के राजदूत और देश की तीनों सेनाओं के उपप्रमुख भी रूबरू होंगे। रक्षा क्षेत्र से जुड़े कलपुर्जो का प्रजेंटेशन भी दिया जाएगा। स्टॉल में उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई गई है। पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रक्षा मंत्री की हेलीपैड पर आगवानी की। मुख्यमंत्री योगी का यहां के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद सीधे मेरठ जाने का प्रोग्राम है।
इस समिट में थल, जल और वायुसेना के उप प्रमुख पहली बार एक साथ अलीगढ़ आए हैं। वहीं प्रदेश के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय, औद्योगिक विभाग के प्रमुख सचिव आरके सिंह व सचिव (उद्योग) भुवनेश कुमार, इंडियन डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग के रिटायर्ड ब्रिगेडियर आशीष भट्टाचार्य आदि भी समिट में मौजूद हैं।

नगर निगम सदन में जमकर हुआ हंगामा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर निगम मुख्यालय में आयोजित सदन की कार्यवाही के दौरान आज जमकर हंगामा हुआ। महापौर संयुक्ता भाटिया और नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी के सामने अपनी बात रखने को लेकर भाजपा और सपा पार्षदों ने जमकर हंगामा काटा और नारेबाजी की। महापौर पार्षदों को चुप कराने का प्रयास करती रहीं लेकिन वे मानने को तैयार नहीं थे। इस बीच कई पार्षद अपनी सीट छोडक़र सदन के कार्यवाही की अध्यक्षता कर रहीं महापौर की सीट के आगे खाली जगह पर इकट्ठा हो गये और जोर-जोर से अपनी बात कहने लगे।

 

Pin It