जनसुनवाई में लापरवाही बरतने वाले जिलों के अधिकारियों पर होगी कार्रवाई: केशव प्रसाद

  • उप मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर शिकायतों के निस्तारण के बाद दिए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार जनता की समस्याओं का समय से समाधान करवाने को लेकर काफी गंभीर है, लेकिन जिला स्तर पर शिकायतों के निस्तारण को लेकर अधिकारी गंभीर नहीं है। जिलों में कार्रवाई नहीं होने से नाराज होकर लोग शासन स्तर पर और उप मुख्यमंत्री या मुख्यमंत्री के पास अपनी फरियाद लेकर पहुंचते हैं। ऐसे में जो काम जिला स्तर पर निपटाये जा सकते हैं, उन्हें उप मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद निस्तारित करवाया जा रहा है। इस बात से उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य काफी नाराज हैं, उन्होंने अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है कि जनता की शिकायतों का स्थानीय स्तर पर समाधान करने में लापरवाही बरती गई और उसकी शिकायत लखनऊ पहुंची तो संबंधित जिलों के अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के सरकारी आवास पर सोमवार को जन सुनवाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस दौरान उन्होंने लोगों की समस्याएं सुनीं। जनसुनवाई में पहुंचे अधिकांश मामलों में जिला स्तर के अधिकारियों की लापरवाही नजर आई। इस दौरान उप मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को चेताया कि जहां से अधिक शिकायतें आएंगी उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसलिए जिला स्तरीय अधिकारी जनता की समस्याओं का निराकरण गंभीरता से करें। उन्होंने कहा कि समस्याओं के निराकरण के लिए बड़ी संख्या में लोगों का लखनऊ आना ही गंभीर बात है। इसका सीधा अर्थ है कि जिले स्तर के अधिकारी लोगों की समस्याओं के निराकरण में रूचि नहीं ले रहे हैं। उप मुख्यमंत्री ने जनसुनवाई के दौरान मौके से ही संबंधित जिलों के डीएम और एसपी से बात की। अपनी फरियाद लेकर लखनऊ पहुंचने वालों में नानपारा बहराइच की कौशर, इलाहाबाद जिले के कई संविदा कर्मी, संभल के राजकुमार, कादीपुर सुल्तानपुर के गया प्रसाद मौर्य तथा देवदत्त मौर्य, सरधना मेरठ के ओमप्रकाश समेत कई अन्य शामिल रहे।

Pin It