बच्चों के साथ व्यवहार में एसओपी का ध्यान रखेगी पुलिस: ओपी सिंह

  • डीजीपी ने एसओपी का किया विमोचन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ । प्रदेश पुलिस अब बच्चों व किशोरों के प्रकरण में स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) के तहत ही वैधानिक कार्रवाई करेगी। डीजीपी ओपी सिंह ने मंगलवार को एसओपी का विमोचन किया। एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में डीजीपी ने कहा कि एसओपी सभी थानों में भेजी जा रही है। ताकि पुलिस उसके अनुरूप ही बच्चों से व्यवहार व वैधानिक कार्रवाई करे।
महिला सम्मान प्रकोष्ठ व वीमेन पावर लाइन (1090) ने यूनीसेफ के साथ मिलकर एसओपी तैयार की है। जो मुख्य अधिनियम किशोर न्याय अधिनियम-2015 व पॉक्सो अधिनियम-2012 पर आधारित है। बताया गया कि एसओपी जल्द ही इंग्लिश वर्जन सहित यूपी पुलिस व वीमेन पावर लाइन की नई वेबसाइट पर भी लोड की जायेगी, ताकि लोगों तक उसे सीधे पहुंचाया जा सके। एसओपी तैयार करने में यूनीसेफ के विशेषज्ञों के साथ डॉ. राम मनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय की सहायता भी ली गई है। एसओपी को लखनऊ के सभी थानाध्यक्षों व राजपत्रित अधिकारियों के सुझावों के जरिए संशोधित किया गया है।

Pin It