कैंसर की जांच के लिए महिला मरीजों को नहीं पड़ेगा भटकना

  • लोहिया अस्पताल में होगी निशुल्क जांच, पैथोलॉजी को मिला सर्टीफिकेट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अब महिलाओं को कैंसर जांच के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। लोहिया अस्पताल की पैथोलॉजी में एफएनएसी व पैपस्मीयर जांच की सुविधा शुरू हो गई है। कैंसर की दोनों जांचें मरीजों के लिए मुफ्त हैं।
अस्पताल के निदेशक डॉ. डीएस नेगी के मुताबिक निडिल एसपिरेशन साइटोलॉजी (एफएनएसी) जांच व पैपस्मीयर जांचें शुरू हो गई हैं। स्तन व शरीर के किसी हिस्से में गांठ, सूजन में कैंसर सेल्स कंफर्म करने के लिए एफएनएसी जांच की जाती है। इसमें निडिल के जरिए संबंधित हिस्से से फ्लूड लेकर पैथोलॉजी में बारीकी से जांचा जाता है। वहीं पैपस्मीयर जांच में एक स्पेचुला द्वारा सर्विक्स से सेल निकाले जाते हैं। उसकी स्लाइड बनाकर माइक्रोस्कोप से कैंसर सेल की पड़ताल की जाती है। इससे सर्विक्स कैंसर को आसानी से पहचाना जा सकता है। अब अस्पताल की पैथोलॉजी में ही मुफ्त जांच की सुविधा मिलने लगी है। अस्पताल में 13 मरीजों की एफएनएसी व तीन की पैपस्मीयर जांच की गई हैं। निजी अस्पतालों में एक जांच 1500 रुपये में होती है। अस्पताल की पैथोलॉजी को आईएसओ सर्टीफिकेट मिल गया है। एनएबीएल के लिए आवेदन किया गया है। डॉ. नेगी के मुताबिक महिलाओं में सर्विक्स (गर्भाशय के मुख) का कैंसर तेजी से पनप रहा है। विश्व में प्रतिवर्ष पांच लाख 30 हजार महिलाएं इसकी चपेट में आ रही हैं।

बनेगी क्रिटिकल केयर यूनिट

लोहिया अस्पताल में गंभीर मरीजों को और बेहतर इलाज मिलेगा। वेंटिलेटर के लिए अब मरीजों को केजीएमयू रेफर नहीं किया जाएगा। अस्पताल में 12 बेड की क्रिटिकल केयर यूनिट बनेगी। इसमें आठ बेड पर वेंटिलेटर लगे होंगे। अस्पताल प्रशासन ने जल्द ही इस सुविधा के शुरू होने की उम्मीद जताई है। बलरामपुर, लोहिया, सिविल, रानी लक्ष्मीबाई, लोकबंधु, राजनारायण, भाऊराव देवरस समेत अन्य बड़े अस्पताल हैं। इनमें रोजाना काफी संख्या में गंभीर मरीज आ रहे हैं। लोहिया को छोड़ किसी भी अस्पताल में वेंटिलेटर की सुविधा नहीं है। इसकी वजह से ट्रॉमा सेंटर,पीजीआई और लोहिया संस्थान की वेंटिलेटर यूनिट में मरीजों का दबाव बढ़ रहा है। लोहिया अस्पताल प्रशासन ने गंभीर मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने के लिए 12 बेड का क्रिटिकल केयर यूनिट शुरू करने का फैसला किया है। अस्पताल के निदेशक डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि जल्द ही आठ बेड पर वेंटिलेटर की सुविधा शुरू होगी।

 

Pin It