प्रधानमंत्री मोदी की रैली में भाजपा नेताओं ने झोंकी पूरी ताकत

  • मुख्यमंत्री योगी और संगठन महामंत्री सुनील बंसल की तैयारियों पर नजर
  • आजमगढ़ में 14 और शाहजहांपुर में 21 जुलाई को होगी रैली
  • लखनऊ में 29 जुलाई को महापौर सम्मेलन में मुख्य अतिथि होंगे पीएम

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आजमगढ़ और शाहजहांपुर में क्रमश: 14 और 21 जुलाई को होने वाली रैलियों के लिए भाजपा ने पूरी ताकत लगा दी है। 15 जुलाई को बनारस और मिर्जापुर के आयोजन की तैयारियां भी तेज हो गई हैं। संगठन महामंत्री सुनील बंसल इसके लिए दौरा कर रहे हैं। लखनऊ में 29 को होने वाले महापौर सम्मेलन के लिए कार्यकर्ताओं को सक्रिय किया गया है।
आजमगढ़ में मोदी की रैली के लिए भाजपा क्षेत्रीय इकाई की कई बैठकें हो चुकी हैं। बंसल ने वहां पहुंचकर अब तक की तैयारियों की समीक्षा कर दिशा निर्देश दिए हैं। यहां मुख्यालय स्तर से भी मानीटरिंग हो रही है। गोरखपुर क्षेत्र के सभी 11 जिलों के संगठन से जुड़े पदाधिकारियों को आजमगढ़ रैली की जिम्मेदारी सौंपी गई है। मोदी वहां पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की आधारशिला भी रखेंगे। इस कार्यक्रम को भव्यता देने की पूरी कोशिश की जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय बुधवार को कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने आजमगढ़ जाएंगे। मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष वहां तैयारियों की समीक्षा करेंगे। डॉ. पांडेय ने कहा कि ‘पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण से पूरे इलाके में उद्योगधंधों को बढ़ावा मिलेगा, युवाओं को अपने ही जिले में रोजगार मिलेगा। सपा, बसपा,कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दल जातिवाद, भाषावाद, क्षेत्रवाद, वंशवाद के प्रोत्साहन के साथ तुष्टीकरण की राजनीति करते हैं।’

समाजवादियों के वोट में सेंध लगाने की तैयारी

आजमगढ़ क्षेत्र में समाजवादियों का प्रभाव है। यहां पिछले लोकसभा चुनाव में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव सदर सीट से सांसद बने थे। जबकि, विधानसभा में ज्यादातर सीटें सपा-बसपा के खाते में गईं। अब जबकि सपा-बसपा का गठबंधन होने जा रहा है तो भाजपा ने आजमगढ़ को चुनौती के रूप में लिया है। यहां मोदीमय माहौल बनाने के लिए पूरी ताकत लगा दी गई है। भाजपा गोरखपुर क्षेत्र के क्षेत्रीय मंत्री अजय तिवारी का कहना है कि ‘विकास के पैमाने पर आजमगढ़ पूर्वी उत्तर प्रदेश का सबसे पिछड़ा जिला है और इसकी सबसे बड़ी वजह यही है कि जनप्रतिनिधियों ने इसकी सुधि नहीं ली। मोदी और योगी की सरकार ने इसके विकास का संकल्प लिया है। मोदी विकास योजनाओं का श्रीगणेश करेंगे।’ अभी हाल ही में शाहजहांपुर को नगर निगम का दर्जा दिया गया है वहां 21 जुलाई को किसानों का बड़ा सम्मेलन कर भाजपा अन्नदाता का दिल जीतना चाहती है। शाहजहांपुर की किसान रैली के लिए प्रदेश उपाध्यक्ष पुरुषोत्तम खंडेलवाल और बीएल वर्मा को प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है। इसे सफल बनाने को प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल शाहजहांपुर जाएंगे।

 

Pin It