बाराबंकी में दो इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर इंस्पेक्टर समेत तीन पुलिसकर्मी घायल

बदमाशों पर विभिन्न जिलों में दर्ज थे दर्जनों मुकदमे, तमंचा और 32 बोर की पिस्टल बरामद
बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे बदमाश, घंटों चली मुठभेड़

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बदमाशों से एनकाउंटर जारी है। पुलिस ने लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले में आज दो इनामी बदमाशों को मुठभेड़ में मार गिराया। इस दौरान गोली लगने से इंस्पेक्टर समेत तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए। मारे गए बदमाशों के खिलाफ सीतापुर, उन्नाव और बाराबंकी समेत कई जिलों में दर्जनों मामले दर्ज हैं। इन पर 50-50 हजार का इनाम था। बदमाशों के पास से एक तमंचा और एक 32 बोर की पिस्टल बरामद की गई है। पुलिस के मुताबिक दोनों किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। मुठभेड़ घंटों चली।
मिली जानकारी के अनुसार बाराबंकी की रामनगर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि दो इनामी बदमाश अपने साथियों के साथ किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है। सूचना मिलने के बाद पुलिस तेजी से सक्रिय हुई। रामनगर पुलिस ने आसपास के थानेदारों को इकट्ठा किया और बदमाशों की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने बदमाशों को मरौठा बहलौलपुर पुल के पास रोकने का प्रयास किया। अपने को घिरा देखकर बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। इस पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। इसमें दो बदमाश घायल हो गए। वहीं बदमाशों की गोली से टिकैतनगर इंस्पेक्टर केके मिश्रा, एसएसआई अनुराग उपाध्याय और एक सिपाही बुरी तरह घायल हो गए। बदमाशों को पुलिस ने सीएचसी में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बदमाशों की शिनाख्त कानपुर निवासी इब्राहीम और उन्नाव निवासी मुशीर के रूप में हुई है। बदमाशों के पास से एक तमंचा और एक 32 बोर की पिस्टल बरामद हुई है। मुठभेड़ के दौरान कई बदमाश भागने में सफल रहे। पुलिस फरार बदमाशों की तलाश कर रही है।

मेरठ के डिप्टी सीएमओ पर गैंगरेप का आरोप, पीडि़ता आई सामने

नौकरी का झांसा देकर वारदात को दिया गया अंजाम
मुख्यमंत्री के जनता दरबार में भी नहीं मिला इंसाफ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। एक ओर सरकार महिलाओं की सुरक्षा के दावे कर रही है वहीं दूसरी ओर प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार थम नहीं रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अमरोहा जनपद का सामने आया है। जहां एक रिटायर सीएमओ ने नौकरी दिलाने का झांसा देकर महिला से दुष्कर्म किया और बाद में उसे अपने अन्य साथियों के सुपुर्द कर दिया। महिला का आरोप है कि तीनों ने मिलकर उसके साथ गैंगरेप किया। शिकायत दर्ज होने के बावजूद गजरौला थाने की पुलिस आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।
अमरोहा जिले के बस्ती गजरौला निवासी रिशु (काल्पनिक नाम)ने बताया कि वह एक निजी नर्सिंग होम में रिसेप्शनिस्ट का काम करती थी। इसी दौरान उसकी मुलाकात रिटायर सीएमओ मुमताज अंसारी से हुई। मुमताज ने सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। अंसारी ने उसे मेरठ में तैनात डिप्टी सीएमओ दिनेश खत्री के पास भेजा। खत्री और स्टेनो विजयपाल ने भी उसके साथ रेप किया। आरोपियों ने उसका वीडियो बना लिया और इसको वायरल करने के नाम पर उसके साथ ज्यादती करते रहे। जब वह पुलिस से शिकायत करने जा रही थी तब तीनों ने उसे सरेराह पीटा। वह मुख्यमंत्री के जनता दरबार में तीन बार जा चुकी है लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय में तैनात अधिकारी उसे जांच का भरोसा देकर टरका रहे हैं। आरोपी उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। महिला का यह भी आरोप है कि अपने साथ हुई हरकत की शिकायत करने के लिए जब उसने आईजी मुरादाबाद को फोन किया तो उन्होंने भी उससे अभद्र भाषा में बात की। इस मामले पर पुलिस महानिदेशक के आदेश पर जांच कराकर थाना गजरौला में मुकदमा दर्ज किया गया, लेकिन अभी तक आरोपियों के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई।

 

मुख्यमंत्री ने विभिन्न कार्यों का किया शिलान्यास

सामूहिक विवाह समारोह में जोड़ों को दिया आशीर्वाद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सोनभद्र में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में शिरकत की। इस दौरान उन्होंने एक हजार एक जोड़े को आशीर्वाद दिया। इसके अलावा सीएम ने विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास किया। सामूहिक विवाह समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाज में आज भी दहेज प्रथा बड़ी चुनौती है। कन्याएं दहेज की भेंट चढ़ रही हैं। सोनभद्र प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए जाना जाता है। यहां सबसे प्राचीन जीवाश्म पाए जाते हैं। यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बिना किसी भेदभाव के योजनाओं को लागू कर रही है। योजनाओं का लाभ निचले स्तर तक पहुंच रहा है। इसके अलावा सीएम ने विभिन्न विभागों के कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने दिव्यांगों को ट्राई साइकिल भी वितरित की। उन्होंने विकास खंड बभनी को ओडीएफ घोषित किया। सीएम ने मिशन सोन स्वावलंबन के अंतर्गत एनआरएलएम समूहों के महिलाओं को 101 सिलाई केंद्र बनाने के लिए सिलाई मशीनों का वितरण किया और सीएसआर/डीएमएफ मद से स्थापित हो रही चार फ्लाई ऐश ब्रिक (परियोजनाओं से निकलने वाली राख से ईंट निर्माण) मशीन का शिलान्यास किया।

Pin It