संस्था को ड्रेसकोड तय करने की पूरी आजादी: लक्ष्मी नारायण

  • कैबिनेट मंत्री ने राज्य मंत्री मोहसिन रजा के बयान पर दी प्रतिक्रिया

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मदरसों में ड्रेस कोड लागू करने को लेकर अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के कैबिनेट मंत्री और राज्य मंत्री आमने-सामने आ गये हैं। जहां एक ओर राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने मदरसों में कुर्ता पैजामा न पहनकर आने की बात कही है, वहीं दूसरी ओर कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने संस्थाओं को डे्रस कोड तय करने की पूरी आजादी का अधिकार होने की बात कही है। इतना ही नहीं उन्होंने मोहसिन रजा के बयान को निजी बयान बताते हुए विभाग में इस तरह के किसी भी प्रस्ताव की बात से इंकार किया है।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि मदरसों में ड्रेसकोड लागू करने की सरकार की कोई मंशा नहीं है। इससे जुड़ी कोई फाइल भी लंबित नहीं है। जिस तरह कोई नागरिक क्या पहनेगा और क्या खाएगा ये उसकी आजादी है उसी तरह संस्थाओं में छात्र क्या पहनकर आएंगे यह तय करने की आजादी संस्था को है। वहीं मोहसिन रजा के मुताबिक, ये कदम मदरसा शिक्षा के आधुनिकीकरण के लिए किया गया है। सरकार मदरसा शिक्षा पैटर्न में सुधार के लिए कई कदम उठा रही है। मोहसिन रजा के इस बयान का उलेमाओं ने भी विरोध शुरू कर दिया है।

Pin It