डाक्टर्स डे पर शिविर का आयोजन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क)। चिकित्सक दिवस पर एसोसिएशन ऑफ ट्रामा ओरल एंड मैक्सिलोफशल सर्जन्स की तरफ से एक शिविर का आयोजन राम मनोहर लोहिया पार्क में किया गया। इस अवसर पर वाटिका में आये वरिष्ठ चिकित्सकों का सम्मान एटम्स के अधिकारी और सदस्यों ने उन्हें पुष्प भेंट कर किया । वरिष्ठ चिकित्सकों ने समाज के लिए किये गए अपने सेवा एवं चिकित्सकीय कार्यों से संबंधित अनुभव साझा किए। शिविर में एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अनूप कुमार गुप्ता, मनोनीत अध्यक्ष डॉ. गौरव सिंह, डॉ. अमिय अग्रवाल, डॉ. अरुणेश कुमार तिवारी, डॉ. सिद्धार्थ चंदेल आदि ने अपने विचार रखे।

 

छात्रा संस्कृति की मौत की गुत्थी उलझी नार्को टेस्ट की तैयारी कर रही पुलिस

  • 12 दिन बाद भी पुलिस नहीं पहुंची किसी निष्कर्ष पर
  • कुछ परिचितों का कराया जाएगा नार्को टेस्ट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के गाजीपुर क्षेत्र से गुम हुयी पॉलीटेक्निक छात्रा की मौत की गुत्थी सुलझने का नाम नहीं ले रही है। इस घटना को घटे बारह दिन हो गये हैं और आज तक पुलिस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है। पुलिस का कहना है कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। अब उन लोगों का नार्को टेस्ट कराया जायेगा जिनसे छात्रा की ज्यादा बात होती थीं।
बलिया जनपद के रहने वाले उमेश राय वकालत करते हैं और इनकी बेटी संस्कृति लखनऊ में पॉलीटेक्निक की पढ़ाई कर रही थी। वह सेकेंड ईयर की छात्रा थी। बताया जाता है कि बीते 21 जून को संस्कृति के पेपर खत्म हुये थे और इसके बाद वह अपने गांव जाने वाली थी। उसने अपने परिवार वालों को भी घर आने की सूचना दे दी थी। परिवार वाले उसका इन्तजार कर रहे थे मगर जब वह अपने गांव नहीं पहुंची तो परिजनों ने विकासनगर में रहने वाले अपने रिश्तेदार को उसका पता करने के लिये भेजा तो पता चला कि उनकी बेटी लहूलुहान हालात में मडिय़ांव क्षेत्र स्थित घैला पुल के पास मिली थी। पुलिस उसे उपचार के लिये अस्पताल ले गयी जहां पर उसकी मौत हो गयी। इस घटना को हुये 12 दिन हो चुका है मगर पुलिस आज तक उसकी मौत की गुत्थी सुलझाने में नाकाम ही रही है। इतना ही नहीं इस पूरे मामले की खुलासे के लिये एसटीएफ को लगाया गया है मगर नतीजा शून्य ही रहा है। इस संबंध में सीओ गाजीपुर अवनीश्वर श्रीवास्तव का कहना है कि पूरे मामले की जांच की जा रही है और अब उन लोगों का नार्को टेस्ट कराया जायेगा जिनके नम्बरों पर संस्कृति की ज्यादा बात हुयी है।

Pin It