आखिर भाजपा ने सुधारी गलती महबूबा सरकार से समर्थन वापस

  • आतंकी अफजल को शहीद बताने वाली महबूबा की सरकार बनाने को लेकर भाजपा की कई सालों से हो रही थी तीखी आलोचना
  • रमजान के महीने में सीज फायर की घोषणा से भी नाराज था भाजपा का वोट बैंक
  • पत्रकार शुजात की हत्या ने दुनिया भर में मचा दिया था हंगामा
  • 2019 के लोकसभा चुनाव में होने वाले नुकसान का आकलन कर भाजपा ने महबूबा सरकार से लिया समर्थन वापस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

दिल्ली। अगर भाजपा के कट्टर वोट बैंक के लोगों में मोदी सरकार को लेकर किसी एक मुद्दे पर नाराजगी को तलाशा जाए तो वह मुद्दा कश्मीर में महबूबा की सरकार बनाना होगा। यह बात भाजपा के कई नेताओं ने आला कमान को दी। पिछले एक साल में कश्मीर के बिगड़ते हालात ने भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व को समझा दिया था कि कश्मीर के मुद्दे पर 2019 का लोकसभा चुनाव भी खतरे में पड़ सकता है। पिछले दिनों पत्रकार शुजात और सैनिक औरंगजेब की हत्या ने अन्तरराष्टï्रीय स्तर पर यह साबित कर दिया था कि कश्मीर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। इसी बात को ध्यान में रखकर आज जम्मू-कश्मीर के भाजपा प्रभारी राममाधव ने दिल्ली में संवाददाता सम्मलेन में इस गठबंधन से अलग होने की घोषणा कर दी।

राममाधव ने कहा कि हमने सवा दो साल पहले जो सरकार बनाई थी उसके कुछ उद्देश्य रखे थे। आज प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से परामर्श लेने के बाद हमने निर्णय लिया है कि इस गठबंधन के साथ चलना संभव
नहीं होगा। पिछले सवा दो सालों से भाजपा अपनी तरफ से सरकार बेहतर चलाने की कोशिश कर रही थी। राज्य के तीनों प्रमुख हिस्सों में विकास तेजी से आगे बढ़ रहा था, मगर एक हिस्से में भारी मात्रा में आतंकवाद और हिंसा बढ़ गई है। उग्रवाद बढ़ रहा है। नागरिकों के मौलिक अधिकार और बोलने की आजादी खतरे में पड़ गई है। पत्रकार शुजात की हत्या इसका जीता जागता
सबूत है।

चारबाग के दो होटलों में आग का तांडव, पांच की मौत 

  • शार्ट सर्किट या गैस सिलेंडर फटने से हादसे की जताई जा रही आशंका
  • विराट व एसएसजे होटल संचालकों के खिलाफ दर्ज होगी एफआईआर
  • सात दमकल गाडिय़ों ने घंटों मशक्कत के बाद आग पर पाया काबू
  • सिविल अस्पताल में चल रहा घायलों का इलाज

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। राजधानी के चारबाग क्षेत्र में स्थित दो होटलों को भीषण आग ने आज अपनी चपेट में ले लिया, जिससे पांच लोगों की मौत हो गई है जबकि आधा दर्जन से अधिक बुरी तरह झुलस गए। हालांकि पुलिस केवल चार लोगों के मौत की पुष्टिï कर रही है। फायर ब्रिगेड की सात दमकल गाडिय़ों ने घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। होटल संचालक फरार हैं और पुलिस इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की तैयारी कर रही है।

होटल विराट इंटरनेशनल में आज सुबह लगी भयंकर आग में कई पर्यटक फंस गए। लपटें उठती देख होटल कर्मी और बाहर के लोगों ने शोर मचाना शुरू किया तो भगदड़ मच गई। पर्यटक और होटल कर्मचारी भागे लेकिन तब तक आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आग ने एसएसजे इंटरनेशनल होटल को भी चपेट में ले लिया। होटल में फंसे लोगों को जब तक बचाव टीम निकालती तब तक कई लोग गंभीर रूप से झुलस गए। घायलों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि एक धमाके के साथ होटल में आग लगी। वहीं शार्ट सर्किट को भी आग की वजह माना जा रहा है। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि सुबह 5.30 बजे लोगों ने होटल से धुआं निकलने देखा। मामले की जांच की जाएगी। एसपी पश्चिम विकास चन्द्र त्रिपाठी का कहना है कि आग लगने का कारण शायद शॉर्ट सर्किट या सिलेंडर फटना हो सकता है। पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। हादसे में एक बच्ची और एक महिला और दो पुरुषों की दर्दनाक मौत हो गयी है। बच्ची की शिनाख्त मेहर के नाम से हुई है। झुलसे लोगों का अस्पताल में इलाज हो रहा है। आग से क्षेत्र में दहशत फैली है।

नियमों को ताक पर रखकर चल रहे होटल

चारबाग में सैकड़ों होटल नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। फायर विभाग भी सुविधा शुल्क लेकर इन्हें एनओसी दे रही है। सूत्रों का दावा है कि होटल में कमर्शियल सिलेंडर की जगह घरेलू सिलेंडर का इस्तेमाल हो रहा है। संचालक केवल दिखावे के लिए कमर्शियल सिलेंडर रखते हैं।

नशे से लेकर देह व्यापार तक होता है इन होटलों मे

राजधानी के चारबाग स्थित होटल नशे और देहव्यापार का अड्डा बन गए हैं। शाम होते-होते ये होटल अय्याशी के अड्डे में तब्दील हो जाते हैं। होटल संचालक अपनी दुकानदारी बढ़ाने के लिए दलाल रख छोड़े हैं। सूत्रों का दावा है कि ये दलाल यात्रियों को होटल में समुचित व्यवस्था उपलब्ध कराने की बात कहकर ले आते हैं। यहां उनको ऐशो-आराम की हर चीज उपलब्ध कराने का भरोसा दिया जाता है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि चारबाग क्षेत्र में शायद ही कोई होटल ऐसा हो जहां पर अय्याशी न हो रही हो। इसके एवज में होटल मालिक बाकायदा पुलिस को सुविधा शुल्क देते हैं।

अस्पताल में घायलों से मिलने पहुंचीं कैबिनेट मंत्री रीता जोशी

गंभीर रूप से झुलसे लोगों का हाल जानने के लिए कैबिनेट मंत्री डॉ.रीता बहुगुणा जोशी लखनऊ के सिविल अस्पताल पहुंची। उन्होंने सभी को उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। होटल में आग लगने की घटना के बाद मौके पर पहुंची रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि होटल में आग लगने की जांच होगी। हादसे की जांच रिपोर्ट एक हफ्ते में तैयार होगी। चारबाग के सभी होटलों में सुरक्षा और अतिक्रमण की भी जांच होगी।

Pin It