गाजियाबाद के चारों भाजपा विधायक वापस करेंगे सुरक्षा

  • कहा, बात नहीं सुनी गई तो लेंगे कठोर निर्णय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मिशन-2019 को फतह करने की तैयारी को लेकर गाजियाबाद पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने उन्हीं की पार्टी के विधायक बड़ी चुनौती रखने की तैयारी में हैं। गााजियाबाद के स्थानीय नेताओं ने सोमवार को मुख्यमंत्री के गाजियाबाद से लौटने के बाद बंद कमरे में दोबारा बैठक की। चर्चा है कि स्थानीय नेता और विधायक अफसरों से परेशान हैं। इसलिए यदि उनकी बात नहीं सुनी गई तो वे सुरक्षा वापस कर देंगे।

सूत्रों के मुताबिक गाजियाबाद में विधायकों की बैठक लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर की सुरक्षा घटाने को लेकर थी। इस बैठक में विधायकों ने तय किया है कि वे सीएम से लखनऊ में मिलेंगे। उनके सामने सारी बातें स्पष्ट रूप से रखेंगे। यदि उनकी बात नहीं सुनी गई तो गाजियाबाद के चार विधायक सुरक्षा वापस कर देंगे। बताया जा रहा है कि सीएम की बैठक में पश्चिमी यूपी के 19 जिलों के 14 सांसदों और 59 विधायकों को बुलाया गया था। इसका मकसद अधिकारियों के कामकाज के बारे में फीड बैक लेना था, लेकिन पार्टी के कुछ रणनीतिकारों को अंदेशा था कि कुछ सांसद-विधायक सीएम के सामने संगठन को लेकर नाराजगी जता सकते हैं। इसके चलते किसी को बोलने का मौका ही नहीं दिया गया। जबकि विधायकों ने तय किया था कि वे सीएम के सामने एसएसपी द्वारा नंदकिशोर के गनर वापस लेने का मामला भी उठाएंगे, लेकिन वह मौका ही नहीं आया। उनसे अपनी बात लिखित रुप में लेकर लखनऊ आने को कहा गया है।

 

Pin It