उत्तराखंड की सभी संसदीय सीटों पर अखिलेश यादव की नजर

  • सपा अध्यक्ष का ऐलान सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी पार्टी
  • अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने भी अखिलेश यादव से की मुलाकात

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से अरूणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नबांमटुकी ने भेंट कर राजनीतिक हालात पर चर्चा की। जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट में हुई मुलाकात में उत्तराखण्ड समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों और नानकमता साहिब के मुख्य सेवादार और पीलीभीत के सिख समुदाय के लोग भी शामिल हुए। इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तराखण्ड के सभी पांचों संसदीय क्षेत्रों में समाजवादी पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव लड़ेगी। उत्तराखण्ड के नगर निगम के चुनावों में भी समाजवादी पार्टी पूरी तैयारी से भागीदारी निभाएगी। इसलिए कार्यकर्ता चुनावों को ध्यान में रखकर बूथवार जन संपर्क के काम में तेजी लाएं।

अखिलेश यादव ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा देश को अधिनायकवाद की ओर ले जा रही है। जो लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा है। भाजपा कुछ नया संकट पैदा करने की रणनीति बनाने में जुटी है। अगर लोकतंत्र नहीं बचेगा तो स्वतंत्रता आंदोलन के मूल्य भी नहीं बचेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि लड़ाई बड़ी है, लेकिन समय बहुत कम है। समाजवादी पार्टी राजनीति को नई दिशा में ले जाना चाहती है। वर्तमान राजनीतिक स्थितियों में सपा की महत्वपूर्ण भूमिका है। जनता को सपा से काफी उम्मीद है। जबकि समाज में नफरत फैलाकर भाजपा राजनीतिक स्वार्थ पूर्ति करने का पाप करने में लगी है। समाज में झगड़ा लगाने की ताकत सिर्फ भाजपा के पास है। समाजवादी मानते हैं कि सद्भाव और विकास साथ-साथ होगा। राजनीति अपने स्वार्थ के लिए नहीं हो सकती है। जनता को अच्छे और बुरे का अंतर बताना हमारा कर्तव्य है। समाजवादी पार्टी इन सब स्थितियों के लिए तैयार है।

हर मोर्चे पर विफल सरकार

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र और राज्य में भाजपा की सरकारों की कामयाबी सिफर रही है। हर मोर्चे पर भाजपा सरकारें विफल रही हैं। सपा चाहती है कि देश का प्रधानमंत्री बदले। लोकतंत्र में लोकलाज जैसी कोई चीज भाजपा में नहीं दिखाई देती है। सिद्धांत और सेवा की राजनीति से उसका कोई लेना देना नहीं। जनता भाजपा से न्याय और कल्याण की कतई उम्मीद नहीं रखती है। इसलिए 2019 में राजनीति को नई दिशा मिलेगी।

 

Pin It